इटली के इस शहर में नहीं पाया गया कोरोना का कोई मरीज

इटली के इस शहर में नहीं पाया गया कोरोना का कोई मरीज

आज के इस बीमारी से बारे दौर में कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को ही हिलाकर रख दिया है. हर दिन मरने वलों का अकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. लगातार इस वायरस की चपेट में आने से लाखों की तादाद में लो संक्रमित होते जा रहे है. वहीं कोरोना वायरस का प्रकोप पूरे यूरोप में भयंकर तौर पर देखा जा रहा है. इससे यूरोप के कई देश बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं. इटली जहां इसके मरीजों की संख्‍या 86,498 तक पहुंच गई है वहीं स्‍पेन में इसके मरीजों की संख्‍या 72248 है. इटली में जहां 9134 लोगों की मौत हो चुकी हैं वहीं स्‍पेन में इसकी वजह से 5812 लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं. समूचे यूरोप में इटली इससे सबसे अधिक प्रभावित है. अमेरिका की बात करें तो वहां पर अब तक इसके 105726 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं 1730 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2538 मरीज ठीक भी हुए हैं. पूरी दुनिया की बात करें तो अब तक इसके कुल 622157 मामले सामने आ चुके हैं. 28799 लोगों की मौत हो चुकी है और 137364 मरीज ठीक भी हुए हैं.

मिली जानकत्री के अनुसार पूरी दुनिया के वैज्ञानिक इस वायरस की काट खोजने में लगे हुए हैं. अमेरिका में इसके टीके का परीक्षण चल रहा है लेकिन यदि वो इसमें सफल भी हुए तो इसका टीका दुनिया में आने में एक साल का समय तक लग सकता है. ऐसे में बचाव ही इसका एकमात्र उपाय है. पूरी दुनिया में इसको लेकर प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है. कुछ जगहों पर जहां इसको कड़ाई से पालन किया जा रहा है तो कुछ जगहों पर इसको लेकर लोग लापरवाह बने हुए हैं. इसी वजह से वहां पर मरीजों की तादाद बेतहाशा बढ़ रही है. इसका जीता जागता सुबूत अमेरिका और इटली है. अमेरिका में लोग प्रशासन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं. इटली में पूरी तरह से लॉकडाउन है. इसके बाद भी वहां पर मरीजों की तादाद बढ़ती ही जा रही है.

जंहा यह भी कहा जा रहा है कि इटली के एक शहर ने मिसाल भी पेश की है. इस शहर का नाम है वो यूगेनियो. उत्‍तरी इटली में स्थित ये शहर पाडुआ प्रांत में आता है. यहां की जनसंख्‍या 2.14 लाख है. इटली के खूबसूरत शहर वेनिस से मिलता वो आज दुनिया के लिए मिसाल बना हुआ है. इसकी वजह है कि यहां पर आज कोई भी कोरोना वायरस का मरीज नहीं है. ऐसा इसलिए है क्‍योंकि यहां पर प्रशासन ने न सिर्फ तेजी से बल्कि ठोस निर्णय लेते हुए लोगों को घरों में बंद कर दिया था. वो ने दक्षिण कोरिया के उस फार्मूले को अपने यहां पर लागू किया जिसकी बदौलत वो अपने यहां पर कोरोना के मरीजों की संख्‍या पर काबू पा सके.

कोरोना के खौफ में कैदी हुए उग्र, न्याय मंत्रालय ने किया बड़ा खुलासा

ब्लड प्लाज्मा की मदद से 'कोरोना' को मात दे पाएगा अमेरिका

कोरोना वायरस : दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के लोगों ने ऐसे की मदद