उल्टा 'नीरव', 'पीएनबी' को डांटे

Feb 20 2018 09:00 AM
उल्टा 'नीरव', 'पीएनबी' को डांटे

नई दिल्ली: 'पहले चोरी फिर सीनाज़ोरी', 'उल्टा चोर कोतवाल को डांटे' जैसी कहावतें पंजाब नेशनल बैंक में 11000 करोड़ का महाघोटाला करने वाले नीरव मोदी के इस बयान पर सटीक बैठती हैं. पहले तो घोटाला किया और घोटाला भी क्या, महाघोटाला, किसी छोटे देश की जीडीपी के बराबर की रकम हड़प कर, देश से भाग जाना और फिर किसी अज्ञात जगह से बैठकर सीनाज़ोरी दिखाना कि, बैंक ने मामला सार्वजनिक कर क़र्ज़ वापसी के सारे रस्ते बंद कर दिये हैं. 

हाल ही में पीएनबी प्रबंधन ने एक चिट्ठी प्राप्त होने की जानकारी दी है, यह चिट्ठी नीरव मोदी डरा लिखी गई है, जिसमे इस महाठग ने बैंक को आँखे दिखते हुए लिखा है कि, मेरे ऊपर बकाया रकम बढ़ाकर बताई गई है. चिट्ठी में ये भी लिखा गया है कि, बकाया रकम 5000 करोड़ से कम है. नीरव ने साफ लिखा कि, अब वो इसे चुकाने की स्थिति में नहीं हैं. 

नीरव ने कहा है कि, बैंक ने क़र्ज़ का मामला सार्वजनिक कर उनकी छवि को नुकसान पहुँचाया है, जिससे उनका बिज़नेस ख़त्म हो गया है और अब वो बैंक का अर्ज़ नहीं चुका सकते. अपनी पत्नी एमी मोदी और मामा मेहुल चौकसी पर लगे आरोपों को नकारते हुए नीरव ने कहा है कि, "मेरी पत्नी का मेरे बिज़नेस से कोई लेना देना नहीं है और मेरे मामा पर भी गलत इलज़ाम लगाए गए हैं." आपको बता दें कि, नीरव मोदी अभी किस देश में हैं इसकी जानकारी अभी किसी को नहीं है. 

जानें, कैसे नीरव को भारत लाएगी सरकार

PNB घोटाले में दिया था साथ, तीनो चढ़े CBI के हाथ

सनसनीखेज़ खुलासा: PNB महाघोटाले में हुस्न का मायाजाल