गलत रिपोर्टिंग के कारण नॉर्थ कोरिया ने बीबीसी के पत्रकार को लिया हिरासत में

लंदन : उत्तर  कोरिया ने गलत रिपोर्टिंग के लिए बीबीसी के पत्रकारों को देश से निकाले जाने की कवायद शुरु की है। नॉर्थ कोरिया ने बीबीसी के जर्नलिस्ट रुपर्ट विगफील्ड हायेस को अनुचित रिपोर्टिंग के लिए हिरासत में ले लिया है। वो उन्हें दे्श से निष्कासित करने वाला है।

उत्तर कोरिया की राष्ट्रीय शांति समिति ने सोमवार को प्योंगयांग में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि संवाददाता के खिलाफ यह कदम रिपोर्टिग के जरिये उत्तर कोरिया की व्यवस्था पर हमले के कारण उठाया गया है। समिति ने कहा कि पत्रकार पर भविष्य में नॉर्थ कोरिया में प्रवेश पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा।

रुपर्ट बीबीसी के उन तीन कर्मियों में शामिल है, जिन्हें शुक्रवार को हिरासत में लिया गया। रुपर्ट के अलावा प्रोड्यूसर मारिया बार्न और कैमरामैन मैथ्यू गोडार्ड भी है। उतर कोरिया ने रुपर्ट से 8 घंटे तक पूछताछ की। बीबीसी की टीम वर्कर्स पार्टी कांग्रेस की कवरेज के लिए पहुंची थी।

उनके साथ नोबेल पुरस्कार प्राप्त विद्वानों का एक प्रतिनिधिमंडल भी था, जो शोध के सिलसिले में वहां गए थे। उत्तर कोरिया का नेतृत्व राजधानी प्योंगयांग में लोगों के जीवन को दर्शाने वाली खबरों से नाखुश था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -