छिन सकता है बसपा का गढ़, इस नेता ने बढ़ाई भाजपा की ताकत

छिन सकता है बसपा का गढ़, इस नेता ने बढ़ाई भाजपा की ताकत

शुक्रवार को सपा के राष्ट्रीय महासचिव रहे पूर्व सांसद सुरेंद्र नागर भाजपा में शामिल हो गए. राज्यसभा से इस्तीफा दिए जाने के बाद से ही उनकी भाजपा में जाने की अटकलें लगाई जाने लगी थी. सुरेंद्र नागर को गुर्जरों का कद्दावर नेता माना जाता है. सपा और बसपा में उनके कई करीबियों के भी भाजपा में शामिल होने की चर्चा है. अगले कुछ दिनों में दोनों दलों के कई और प्रमुख नेता भाजपा में शामिल हो सकते हैं. इससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा की ताकत और बढ़ेगी. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

सपा सांसद शफीकुर्रहमान का भड़काऊ बयान, कहा- खौफ में जी रहे देश के मुसलमान

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि गौतमबुद्ध नगर में सपा की साइकिल कभी गुल नहीं खिला सकी. हर बार लोकसभा और विधान सभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा, लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती का गृह जनपद होने की वजह से गौतमबुद्ध नगर उसका गढ़ (किला) माना जाता रहा है. 2009 के लोकसभा चुनाव में सुरेंद्र नागर गौतमबुद्धनगर से बसपा के टिकट पर सांसद बने थे.

हरियाणा चुनाव के लिए चौटाला और मायवती ने मिलाया हाथ, सीट बंटवारे पर भी बन गई बात

भाजपा में सुरेंद्र नागर के शामिल होने से गौतमबुद्धनगर में बसपा का किला अब भाजपा का गढ़ बन गया है. गौतमबुद्धनगर की जेवर विधान सभा से बसपा के टिकट पर तीन बार विधायक बने पूर्व मंत्री वेदराम भाटी, नोएडा से बसपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़े रविकांत मिश्रा, सतेंद्र नागर, बलराज भाटी, बिजेंद्र प्रमुख, पंडित लोकमन प्रधान, मनोज डाढ़ा, अमित भाटी, वीरेंद्र खारी, महेश भाटी समेत कई नेता पहले ही विभिन्न दलों को छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं. अब सुरेंद्र नागर के भी भाजपा में आ जाने से यह जिला पूरी तरह से भगवा हो गया है.

नॉर्वे में मस्जिद के भीतर अंधाधुन्द फायरिंग, एक शख्स गिरफ्तार

पाकिस्तान का एक और बौखलाहट भरा कदम, अब महाराजा रणजीत सिंह की प्रतिमा तोड़ी

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आई शिवसेना, प्रभावितों के लिए पहुंचे राहत सामग्री