नोट बैन होने से गुजरात के इस गांव में नहीं पड़ा कोई फर्क

हमारे यहाँ पर सभी जगह बैंको में भीड़ लगी हुई है, एटीएम में भी भीड़ लगी हुई है। लेकिन एक ऐसी जगह भी है जहाँ पर इस नोट बैन का कोई फर्क नहीं पड़ा। जी हम बात कर रहे है गुजरात की। गुजरात के एक गाँव में नोट बैन होने का कोई फर्क ही नहीं पड़ा है। यहाँ पर बैंक और एटीएम सब कुछ खाली पड़े है। कोई लाइन नहीं है। हालाँकि इस गाँव की कुल आबादी 11000 हजार के करीब है, और इस गाँव में 13 बैंक है लेकिन सब खाली पड़े है।

दरअसल में बात यह है की इस गाँव में ज्यादातर लोग एनआरआई हैं। और हर साल यहाँ पर 1500 से 2000 लोग गाँव आते भी है और जाते भी है। बस यही वजह है कि यहाँ पर लोग बैंक से लोन नहीं लेते और बैंको में भीड़ नजर नहीं आती। यहाँ के लोगो ने धीरे धीरे विदेशो में बसना शुरू कर दिया है। यहाँ के गाँव के ज्यादातर लोग अफ्रीका में जाकर बस चुके है। आपको यह भी बता दें की इस गाँव में लेन-देन का ज्यादातर काम डेबिट और क्रेडिट कार्ड से ही होता है। यहाँ के लोगो का कहना यह भी है कि उनके गाँव की तरह दूसरे गाँव में भी प्लास्टिक करैंसी का उपयोग होना चाहिए।

क्या होता अगर 2000 के नोट पर गांधीजी की जगह होते ये सेलिब्रिटीज ?

Video - "बापू सेहत के लिए तू तो हानिकारक है" का नोट वर्जन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -