क्यों दिया जाए डॉ लोहिया को 'भारत रत्न' ? - नीतीश कुमार

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दिवंगत समाजसेवी डॉ राममनोहर लोहिया को भारत रत्न देने की मांग की है, 12 अक्टूबर को डॉ लोहिया की पुण्यतिथि है, नीतीश कुमार चाहते हैं की उनकी पुण्यतिथि के अवसर पर डॉ लोहिया को इस सम्मान से नवाज़ा जाए. इस तरह की मांग नितीश कुमार पहले भी उठा चुके हैं.

प्रधानमंत्री मोदी को भेजे गए पत्र में उन्होंने डॉ राममनोहर लोहिया के देश के प्रति योगदान का विस्तार से जिक्र करते हुए यह मांग रखी है, साथ ही उन्होंने गोवा हवाई अड्डे का नाम बदल कर 'डॉ राममनोहर लोहिया हवाई अड्डा' रखने के लिए भी पीएम से अनुरोध किया है. मुख्यमंत्री ने लिखा कि डॉ. लोहिया आजादी की लड़ाई के अथक योद्धा, विचारक, देशज समाजवादी और एक प्रखर राजनेता थे. पूरा देश उनके इस अमूल्य योगदान से परिचित है.

नीतीश ने डॉ राममनोहर लोहिया के तत्कालीन अभियान के बारे में बताते हुए लिखा है कि  डॉ. लोहिया तत्कालीन सरकार से ग्रामीण महिलाओं के लिए दरवाजा बंद शौचालयों के निर्माण की मांग लगातार उठाते रहे. जवाहर लाल नेहरू के प्रखर विरोधी लोहिया ने यहां तक कहा था कि अगर वो (जवाहर लाल नेहरू) सभी गांवों में महिलाओं के लिए शौचालय बनवा दें तो मैैं उनका विरोध करना बंद कर दूंगा. इतना ही नहीं सरकार की जनविरधी नीतियों का विरोध करने के कारण उन्हें 11 बार जेल भी जाना पड़ा था.

सीने पर लिख दिया SC/ST

16 लोगों को कुचलने के बाद पलटा ट्रक

प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामला

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -