प्रधानमंत्री ही हल्की बात करेंगे तो देश का क्या होगा : नीतीश कुमार

प्रधानमंत्री ही हल्की बात करेंगे तो देश का क्या होगा : नीतीश कुमार

पटना​ : बिहार में इन दिनों बयानबाजियों का दौर है। हर कहीं नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने में लगे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव में भागलपुर जिले में राजग की रैली के दौरान जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में नीतिश कुमार द्वारा करीब 2.70 लाख करोड़ रूपए का पैकेज जारी किए जाने को बिहार के लोगों की आंखों में धूल झोंकना बताया गया वहीं नीतिश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यदि इस तरह की हल्की बात देश का प्रधानमंत्री करेगा तो फिर देश का क्या होगा। दरअसल प्रधानमंत्री के कारण ही सेंसेक्स नीचे की ओर जा रहा है। जीडीपी में कमी आई है। मोदी की परेशानी उनके बयानों से साफ झलक रही है।

दरअसल बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नीतीश के 2.70 लाख करोड़ रूपए के पैकेज में वित्त आयोग की सिफारिश केंद्र की सरकार द्वारा आगामी 5 वर्ष में बिहार को 3.74 लाख करोड़ रूपए देने जा रही है। यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नीतीश दे रहे हैं 2.7 लाख करोड़ और दिल्ली से जो आ रहा है वह 3.74 लाख करोड़ रूपए है। इस दौरान यह पूछा जाना चाहिए कि 1.06 लाख करोड़ रूपए आखिर कहां जाएगा। इसे बताऐं कि आखिर नीतीश बिहार वासियों की आंखों में धूल झोंकने का काम क्यों कर रहे हैं।

वित्त आयोग की अनुशंसा के अनुसार बिहार को आगामी 5 वर्षों में 3.74 लाख करोड़ रूपए की राशि देने को कहा गया है। संघीय ढांचे के तहत केंद्र सरकार को यह राशि अदा करनी है। हालांकि इसे लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि देश के लोग आखिर क्या सोचते होंगे, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इसे बिहार को एक उपहार की तरह बता रहे हैं मगर सच यह है कि यह तो राज्य का ही फंड है। उन्होंने कहा कि बिहार को जिनती राशि की आवश्यकता होगी उसके लिए केंद्र से मांगने नहीं जाऐंगे।