सपा के जाते ही, मुस्लिम वोट बैंक को रिझाने में लगे नीतीश

सपा के जाते ही, मुस्लिम वोट बैंक को रिझाने में लगे नीतीश

पटना : इन दिनों सभी की नज़रें बिहार चुनाव पर लगी हुई हैं। निर्वाचन आयोग द्वारा आज चुनाव की तारीखों की घोषणा किए जाने की संभावनाऐं हैं वहीं इसके पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपना नया पैंतरा आजमा लिया है। माना जा रहा है कि नीतीश ने जनता परिवार से सपा के अलग होने के बाद उसकी जगह भरने की कोशिश की है। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश ने राज्य में संचालित 609 मदरसों को अनुदान देने की घोषणा कर डाली है। नीतीश की यह घोषणा ऐसे समय की गई है जब बिहार चुनाव की तारीखों का ऐलान होना है। 

शिक्षा विभाग की ओर से जारी किए गए सूचनापत्र में इस बात का उल्लेख किया गया है। राज्य में चलने वाले करीब 609 मदरसों को अनुदान दिया जाएगा। हालांकि राज्य में राज्य मदरसा बोर्ड के अंतर्गत 2459 मदरसे पंजीकृत हैं मगर करीब 609 मदरसों को ही अनुदान के लिए चुना गया है। इसके बाद इन मदरसों को राज्य में बेहतर सुविधा मिलेगी।

नोटिफिकेशन में बताया गया कि शिक्षकों और कर्मचारियों को वेतन मदरसा बोड के माध्यम से दिया जाएगा। इसके लिए वित्त विभाग द्वारा तैयारी की जाएगी। अररिया, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, मधुबनी, सीतामढ़ी, सुपौल, सिवान, समस्तीपुर के साथ बांका के मदरसों को इस घोषणा के तहत शामिल किया गया है।