सड़कों पर मजदूरों से बात करने से अच्छा, अपनी राज्य सरकारों से बात करे कांग्रेस- निर्मला सीतारमण

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज की पांचवीं और अंतिम किस्त की जानकारी दी. घोषणाओं के बाद सीतारमण पत्रकारों के सवालों के का जवाब दे रही थीं, इसी बीच अचानक एक सवाल सुनकर वह भड़क उठीं. दरअसल किसी ने उनसे कांग्रेस को लेकर सवाल पुछा था. 

निर्मला सीतारमण गुस्से में बोलीं, प्रवासी श्रमिकों के साथ रास्ते में बैठ कर बात करना, क्या यहा ड्रामेबाजी नहीं है? हमको ड्रामेबाज कह रहे हैं. मैं हाथ जोड़कर मैं सोनिया गांधी से अपील करती हूं कि इस संकट के समय में जिम्मेदार होकर बात करें और प्रवासी मजदूरों की समस्या को दूर करने में सरकार की मदद करें.  आपको बता दें कि पूरे देश में जारी लॉकडाउन के कारण प्रवासी मजदूरों को तमाम तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को दिल्ली में प्रवासी मजदूरों से मुलाकात करके उनकी स्थिति के बारे में जाना. केंद्रीय मंत्री सीतारमण ने इसी को लेकर कांग्रेस पर तंज कसा.

प्रवासी श्रमिकों की समस्या पर निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार ने ट्रेन का इंतज़ाम किया है. किन्तु दुख होता है कि लोग पैदल जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने क्यों नहीं उन राज्यों में ट्रेनें मंगवाकर प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने की तरफ पहल की, जिन प्रदेशों में उनकी सरकार है. कांग्रेस पार्टी को सड़कों पर बैठकर प्रवासी श्रमिकों से बैठकर बात करने से अच्छा इस मसले पर अपनी राज्य सरकारों से चर्चा करनी चाहिए. 

हरियाणा : राज्य में जल्द सामने आ सकते है शराब घोटालेबाजों के नाम

मजदूरों की दुर्दशा से चिंतित है कांग्रेस, कपिल सिब्बल ने उठाए सवाल

100 प्रतिशत ठीक हो जाएगा कोरोना, दवा खोजने वाली अमेरिकी कंपनी का दावा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -