‘निपाह संक्रमण’ के चलते केरल के लिए रवाना हुआ केंद्रीय दल

कोझिकोड: कोरोना महामारी के बीच केरल के कोझिकोड जिले में एक 12 साल के बच्चे की निपाह संक्रमण से मौत हुई है। इसके पश्चात् केंद्र सरकार सतर्क होते हुए दिखाई दे रही है। बच्चे की मौत के पश्चात् केरल में एक केंद्रीय दल को भेजा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को इसकी खबर दी। पीड़ित लड़के के शरीर से नमूनें लिए गए। इन नमूनों को पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया था, जहां उनमें निपाह संक्रमण की उपस्थिति की पुष्टि हुई।

वही केंद्र सरकार ने नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल की टीम को केरल भेजा है, जो रविवार को वहां पहुंच जाएगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि यह टीम प्रदेश को टेक्निकल सपोर्ट देगी। केंद्र ने कुछ तात्कालिक लोक स्वास्थ्य कदम उठाने का सुझा दिए है, जिसमें पीड़ित लड़के के परिवार, अन्य परिवारों, गांव तथा समान भौगोलिक हालात वाले क्षेत्रों विशेष तौर पर मल्लापुरम में संक्रमण के मामलों की खोज करना सम्मिलित है।

वही इनमें पीड़ित के लगभग रहे लोगों के कांटेक्ट में पिछले 12 दिनों में आए लोगों को तलाशना, संपर्क में आए लोगों को आइसोलेट करना तथा प्रयोगशाला में टेस्ट के लिए नमूनों को इकट्ठा करना तथा टेस्ट के लिए भेजना सम्मिलित है। बता दें कि चमगादड़ जब फलों को खाता है तो उसकी लार उन फलों पर लग जाती है। इसी से निपाह संक्रमण फैलता है। केरल के कोझिकोड और मल्लापुरम जिलों में 2018 में निपाह संक्रमण फैला था।

अमेरिकी डॉक्टर का दावा, कहा- "आइवरमेक्टिन के उपयोग से हो सकते हैं गंभीर परिणाम..."

यूरोपीय संघ को वैक्सीन की 20 करोड़ खुराक देने पर सहमत: एस्ट्राजेनेका

नंबर वन बना महाराष्ट्र, सबसे ज्यादा वैक्सीन की दोनों डोज देने का बनाया रिकॉर्ड

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -