चाचा का शव ले जा रही भतीजी की हुई दर्दनाक मौत, भाई की दबंगों ने कर दी थी हत्या

चाचा का शव ले जा रही भतीजी की हुई दर्दनाक मौत, भाई की दबंगों ने कर दी थी हत्या
Share:

सागर: मध्य प्रदेश के सागर जिले में पिछले वर्ष अगस्त में एक दलित युवक को उत्पीड़न के एक मामले में समझौता करने के लिए दबाव डालने वाले दबंगों ने पीट-पीटकर मार डाला था। मृतक शख्स की बहन अंजना अहिरवार ने इस मामले में पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पिछले रविवार को अपने चाचा का शव ले जाते हुए एम्बुलेंस से गिरने पर उसकी भी मौत हो गई।  

पुलिस सूत्रों के अनुसार, अंजना के चाचा राजेंद्र अहिरवार की शनिवार रात कुछ लोगों ने पुरानी दुश्मनी को लेकर पीट-पीटकर क़त्ल कर दिया। ASP लोकेश सिन्हा ने मीडिया को बताया कि 24 वर्षीय राजेंद्र अहिरवार की खुरई पुलिस थाने के अंतर्गत दो समूहों के बीच झड़प हो गई थी, जिसमें चोटिल होने के कारण उसकी मौत हो गई। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, अंजना अहिरवार ने आरोप लगाया था कि उनके भाई नितिन अहिरवार उर्फ ​​​​लालू की 24 अगस्त, 2023 को कुछ लोगों ने क़त्ल कर दिया था, जो उन्हें परेशान करते थे, तत्पश्चात, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बरोदिया नोनागिर गांव में धरना दिया था।  

ASP ने कहा, "अंजना सागर में पोस्टमॉर्टम के पश्चात् राजेंद्र अहिरवार का शव अपने गांव ले जा रही एम्बुलेंस से गिर गईं। उनके परिवार के सदस्य शव के साथ थे।" यह पूछे जाने पर कि क्या पुराने मामले में समझौते के दबाव की वजह से राजेंद्र अहिरवार का क़त्ल किया गया है, सिन्हा ने कहा कि जांच के चलते सभी तथ्य सामने आ जाएंगे। बीते अगस्त में सागर जिले में पुरानी दुश्मनी को लेकर लोगों के एक समूह ने नितिन अहिरवार का कथित तौर पर पीट-पीटकर क़त्ल कर दिया था। उनकी मृत्यु के पश्चात् अंजना अहिरवार ने एक FIR दर्ज कराई कि उनके भाई का क़त्ल कर दिया गया क्योंकि कुछ लोग उत्पीड़न मामले में समझौते के लिए उन पर दबाव डाल रहे थे। इस बीच एमपी कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने एक ट्वीट में दावा किया कि सागर जिले के बरोदिया नोनागिर गांव में राजेंद्र अहिरवार नामक युवक पर राजीनामा करने के दबाव में 5 लोगों द्वारा हमला किया गया। 

उन्होंने दावा किया कि गंभीर रूप से चोटिल राजेंद्र का उपचार के लिए भोपाल ले जाते वक़्त निधन हो जाता है। 26 मई को पोस्टमार्टम के पश्चात् शव परिजनों को सौंप दिया जाता है। पटवारी ने कहा, "शव वाहन में चालक, मृतक की भतीजी अंजना अहिरवार एवं मृतक के माता-पिता बरोदिया नोनागिर के लिए रवाना हुए। अंजना खुरई बाईपास पर शव वाहन से गिर गई और उसकी मौत हो गई।" मध्य प्रदेश कांग्रेस चीफ ने दावा किया कि अंजना के भाई का अगस्त में बरोदिया नोनागिर में सार्वजनिक रूप से क़त्ल कर दिया गया था तथा उनका परिवार अभी भी न्याय का इंतजार कर रहा है। पटवारी ने राज्य सरकार को घेरते हुए कहा, "सीएम के पास गृह विभाग भी है, उनके नेतृत्व में राज्य में कानून-व्यवस्था खराब हो गई है। यह संकट सिर्फ सागर में ही नहीं, बल्कि राज्य के हर जिले में है। कानून व्यवस्था एक मजाक बन गई है, जो बढ़ती जा रही है। अपराधियों के हौसले बुलंद हैं लेकिन सरकार चुप है।" 

राजस्थान में गर्मी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 50 डिग्री के पार पहुंचा तापमान

'मेरा 7 किलो वजन घट गया, गंभीर बीमारी हो सकती, 7 दिन जमानत बढ़ाई जाए..', सुप्रीम कोर्ट में केजरीवाल की नई याचिका

पुणे पोर्श कांड में बड़ा एक्शन, फॉरेंसिक विभाग के HoD समेत दो डॉक्टर हुए गिरफ्तार

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -