कश्मीर में NIA की सख्ती, यासीन मलिक सहित कई अलगाववादी नेताओं के घर मारे छापे

श्रीनगर: पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में सख्त कार्रवाई का दौर जारी है. मंगलवार सुबह नेशनल इनवेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) ने जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के नेता यासीन मलिक, नईम खान और जफर भट के श्रीनगर स्थ‍ित कई ठिकानों पर छापेमारी की कार्यवाही की हैं. जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद को बढ़ावा देने वाले बड़े नेताओं में शामिल यासीन मलिक को गत शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था.

भारत की कार्यवाही से खौफ में पाकिस्तानी निवेशक, 400 अंक टूटा सेंसेक्स

उल्लेखनीय है कि यासीन मलिक जम्मू-कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के अध्यक्ष हैं. घाटी में पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. इससे पहले गृह मंत्रालय के आदेश पर जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने 22 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा और सरकारी सुविधाएं छीन ली थी. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के 155 राजनेताओं को दी गई सुरक्षा में भी बदलाव किया था. इस सूची में यासीन मलिक का नाम भी शामिल था. गृह मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार इन अलगाववादी नेताओं और राजनीतों की सुरक्षा में 1000 से अधिक पुलिसकर्मी और 100 के लगभग सरकारी गाड़ियां लगी हुई थीं, लेकिन अब इन्हें वापस ले लिया गया है. सरकार के इस कदम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यासीन मलिक ने कहा था कि सरकार ने उसे पहले भी कोई सुरक्षा नहीं दी थी.

युवाओं के लिए इस संस्था में नौकरियां, वेतन 25 हजार रु

गृह मंत्रालय ने अर्द्धसैनिक बलों की 100 और कंपनियों को जम्मू-कश्मीर में तैनाती के लिए भेजा है.जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद ये कदम उठाया है. पाकिस्तान स्थित और समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए इस कायराना हमले में सीआरपीएफ के 44 से अधिक जवान शहीद हो गए थे.

खबरें और भी:-

हैदराबाद पुलिस अकादमी में नौकरियां ही नौकरियां, युवाओं के लिए खाली हैं ये पद

National institute of oceanography goa में वैकेंसी, ऐसे करें अप्लाई

सोने चांदी के दामों में फिर आया उछाल, जानिए आज के रेट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -