Exclusive: नेपोटिज्म पर बोली अनु अग्रवाल - 'रात 12 बजे व्हिस्की लेकर आ गया था डायरेक्टर'

Jul 03 2020 04:28 PM
Exclusive: नेपोटिज्म पर बोली अनु अग्रवाल - 'रात 12 बजे व्हिस्की लेकर आ गया था डायरेक्टर'

बॉलीवुड की फिल्म आशिकी तो आपको याद ही होगी। इस फिल्म में मासूम से चेहरे के साथ नजर आईं अनु अग्रवाल सभी के दिलों में छा गईं थी। इस फिल्म में अनु ने राहुल रॉय के साथ काम किया था और फिल्म हिट होने के बाद अनु के घर के बाहर उनके फैंस की लाइन लगी रहती थी। वह बहुत मशहूर हो गईं थी। अनु अग्रवाल ने बॉलीवुड में अपनी पहली फिल्म से धमाल मचा दिया था। आशिकी फिल्म गोल्डन फिल्म कही जा सकती है जो सुपर-डुपर हिट रही थी। वहीं इस फिल्म के बाद आप सभी ने अनु को खलनायिका, किंग अंकल, जन्म कुंडली जैसी फिल्मों में देखा होगा जो बेहतरीन रहीं थीं। इन फिल्मों को करने के बाद अनु इंडस्ट्री से गायब हो गई। जी दरअसल उनका एक एक्सीडेंट हो गया था जिसके बाद वह 29 दिन हॉस्पिटल में एडमिट रहीं थीं। उस समय वह कोमा में चली गईं थीं। आप जानते ही होंगे कोमा से बाहर आने के बाद उन्होंने बॉलीवुड में वापस कदम नहीं रखा और योग को अपना साथी बना लिया। अभी अनु राइटर भी है। जैसा कि आप जानते ही है बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से बॉलीवुड में नेपोटिज्म का मुद्दा उठ चुका है और इसी विषय में बात हो रही है। कई सेलेब्स है जो इस बारे में बात कर रहे है और खुलकर सामने आए है और अब उन्ही में शामिल हुईं है आशिकी एक्ट्रेस अनु अग्रवाल। हाल ही में उन्होंने News Track के साथ हुई Exclusive बातचीत में कई चौकाने वाले खुलासे किये जो उनकी वापसी और नेपोटिज्म से जुड़े हैं आइए जानते है।

 

सवाल- आपने बॉलीवुड में वापिसी क्यों नहीं की ?

अनु अग्रवाल - 1996 में मैंने एक लेक्चर सुना योग के गुरूजी का। वहां मेरा दिमाग एकदम हिल गया। उन्होंने कहा- एक आपका शरीर है, एक आपका दिमाग है और एक आपकी आत्मा है और यह तीनो चीजें हमारी बिलकुल डिस्कनेक्टेड है क्योंकि हम जो चाहते है हम बोलते कुछ और है तो हमारी जो वाणी है वह हमारे सोच से नहीं मिलती है। अगर हम तीनो को कनेक्ट कर ले यह योग है। मैंने सोचा बॉलीवुड देख लिया,स्टारडम देख लिया, सब कुछ तो देख लिया अब यह देखना चाहिए क्योंकि यह एकदम नयी चीज है। चलो यहाँ चलते है। कभी मैंने यह नहीं सोचा कि बॉलीवुड छोड़ रही हूँ बस यह था चलो आज यह करें, आ जाएंगे वापस। 1997 में मैंने वो कोर्स ज्वाइन किया, उसके बाद लाइफ, दिमाग सब स्थिर हो गया। उसके बाद मेरे अंदर परिवर्तन शुरू हो गया और मैंने अध्यात्म की और खुद को मोड़ लिया।

सवाल - इन दिनों बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर बहस छिड़ी हुई है क्या आप कभी बॉलीवुड में नेपोटिज्म का शिकार हुईं है?

अनु अग्रवाल - हां बिलकुल, मैं आपको बहुत सी कहानियाँ बता सकती हूँ। लड़की के लिए ज्यादा मुश्किल होता है। डायरेक्टर ये सोचते है लड़की एक्ट्रेस बनी है तो वह अवेलेबल है। बॉलीवुड में सारा गेम फेम के बारे में है। आशिकी हिट होने के बाद लोग मेरे सामने आकर झुकते थे। उस समय मेरे जैसे लड़की नहीं थी। उस समय एक टॉप के डायरेक्टर थे मैं उनका नाम नहीं लुंगी। वो आए और उन्होंने कहा मुझे आपके साथ मूवी करनी है उन्होंने मुझे कई फ़ोन किये। वो मेरे घर आए रात के 12 - 12:30 बजे। उनके कंधे पर एक बैग था और बात शुरू हुए 10 मिनिट भी नहीं हुए उन्होंने बैग में से व्हिस्की की बोतल निकाली। मैंने वो बोतल देखी तो मेरा दिमाग खराब हो गया। मैंने सोचा ये स्टोरी बताने आए है और क्या कर रहे है। मैं वहीं खड़ी हो गई सोचा क्या करूँ मैं अकेली थी फिर मैंने सोचा उसको बोलू, फिर 10 मिनिट के अंदर मैं वहां से उठ गयी और किसी तरह उसको घर से निकाला। बॉलीवुड में स्ट्रांग नेपोटिज्म है। मुझे फिल्म के लिए अवार्ड मिलना था लेकिन कहा गया कि कौन है अनु अग्रवाल, इसके माता-पिता का पता नहीं है। और जिस फिल्म (खलनायिका) के लिए के लिए मुझे अवार्ड मिलना था उसके लिए मुझे अवार्ड नहीं मिला। मुझे सपोर्टिंग कैरेक्टर में डाल दिया जबकि वह फिल्म मुझ पर ही बनी थी मैं लीड एक्ट्रेस थी। बॉलीवुड में सबसे अधिक नेपोटिज्म है।

सवाल - आपने शादी क्यों नहीं की...?

अनु अग्रवाल - मेरे लिए रिश्ते आने शुरू हो गए थे 17 - 18 साल साल की उम्र में लेकिन मैंने अपने माता -पिता से कहा मैं पढ़ाई पूरी कर लू उसके बाद। बाद में मैं मुंबई आ गई और फिर मैंने सोचा मैं मुंबई में रहूंगी। मेरी बुक (Anusual: Memoir of a Girl Who Came Back from the Dead) में लिखा है मैं मेरे बॉयफ्रेंड के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में थी हम लोग शादी करने वाले थे। उसे मैं घर ले गई वो मेरी दादी से मिला घरवालों से मिला सबने उसे अपना लिया लेकिन फिर शादी नहीं हुई। मैंने सोचा पार्टनर है तो वह तो कभी भी मिल जाएगा।

सवाल - अभी आप क्या कर रहीं है..?

अनु अग्रवाल - मेरा अनु अग्रवाल नाम का फाउंडेशन है। इतना काम चल रहा है। अभी कोई मूवमेंट शुरू हुआ है थैंक्यू केयरटेकर्स तो केयरटेकर्स स्पेशल कोविड 19 में डॉक्टर, नर्स है उन लोगों को धन्यवाद करना चाहिए। तो उन्होंने मुझे अपना ग्लोबल एम्बेसडर बना दिया है, मैं उसमे काम कर रहीं हूँ। इसके अलावा मेरे पास फिल्मों के ऑफर है हो सकता है मैं फिल्मों में वापस आ जाऊ लेकिन मैंने अभी हां नहीं किया है।

नेपोटिज्म का शिकार रहे हैं सैफ अली खान, बताया इंडस्ट्री का काला सच

कौन है सुशांत की मौत का जिम्मेदार- नेपोटिज्म, प्यार या फिर आप?

सरोज खान के निधन से अमिताभ का मन है अशांत, बड़े-बड़े स्टार्स ने जताया दुःख