अस्पताल ले जाते समय रास्ते में प्रसूता की मौत

सरकार प्रदेश में  स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने में लगी है लेकिन अभी भी कुछ खबरें ऐसी आती है जिससे कि स्वास्थ्य सुविधाओं पर सवाल उठने लगते हैं. ऐसी ही एक खबर सामने आयी है विदिशा जिले से. शुक्रवार को प्रसव के लिए शमशाबाद हॉस्पिटल से प्रसूता को जिला अस्पताल रैफर किया गया था. इस दौरान प्रसूता की रास्ते में मौत हो गई. इस मामले में प्रसूता के परिजनों का कहना है कि ऑक्सीजन नहीं मिलने से प्रसूता की मौत हुई है.

प्रसूता के साथ उसके गर्भ में बच्चे की भी मौत हो गई है.  प्रसूता के परिजनों ने आरोप लगते हुए कह है कि प्रसूता को शमशाबाद हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की सुविधा नहीं मिली और जब प्रसूता को जननी एक्सप्रेस में जिला अस्पताल  रैफर किया जा रहा था तब भी उसे अच्छे से ऑक्सीजन की सुविधा नहीं मिल पायी. इस मामले में परिजनों ने अपनी शिकायत पुलिस के पास भी दर्ज करवा दी है. पुलिस रिपोर्ट दर्ज होने के बाद प्रसूता का पोस्टमार्टम किया गया.     

प्रसूता की मौत पर परिजनों का कहना है कि डॉक्टर ने पहले तो प्रसूता की स्थिति सामान्य बताकर घर ले जाने काे कह दिया था लेकिन स्थिति अधिक खराब होने के बात डॉक्टर ने रैफर कर दिया.

भोपाल नहीं आएगी जेट की हैदराबाद-नागपुर फ्लाइट

शिक्षा मंत्री ने पहले संविलियन के लिए दो तारीखों की घोषणा कर दी

मोबाइल की बैटरी फटने से तीन बच्चे घायल

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -