भारत समेत विश्व के इस राज्य में बढ़ा कोरोना का कहर, लगातार बढ़ रहे केस

भारत समेत पूरे विश्व में कोविड संक्रमण के हालात पहले ही बेकाबू हो चुके हैं। ऐसे में एक और बुरी खबर यह है कि पड़ोसी देश श्रीलंका में कोविड वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है जो अब तक का सबसे घातक स्ट्रेन कहा जा रहा है। यह स्ट्रेन एयरबोर्न है जो हवा को संक्रमित करता है। यानी आप अगर किसी संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में नहीं भी आते हैं तो यह स्ट्रेन हवा में फैलकर भी आपको संक्रमित कर रहा है।

श्रीलंका की जयवर्देनापुरा यूनिवर्सिटी में इम्यूनोलिजी एंड मॉलिक्यूलर साइंसेज मंत्रालय की प्रमुख नीलिका मालाविगे ने शनिवार को कहा कि यह स्ट्रेन बहुत आसानी से और बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिसके कारण यह है कि ये हवा में एक घंटे तक बना रहता है। उन्होंने कहा कि श्रीलंका में पाए गए अब तक के सभी वैरियंट में कोरोना का यह स्ट्रेन सबसे अधिक घातक और तेजी से बढ़ने लगा है।

श्रीलंका के स्वास्थ्य प्रशासन को डर है कि नया स्ट्रेन बीते सप्ताह नववर्ष समारोह से फैलना शुरू हो चुका  है। इसीलिए जिसका सबसे अधिक संक्रमण युवाओं में फ़ैल रहा है। जनस्वास्थ्य इंस्पेक्टर उपल रोहाना का कहना है कि अगले दो-तीन हफ्ते में इस संक्रमण के फलने-फूलने से यह संक्रमण इतना अधिक फैल सकता है कि तीसरी लहर आ जाए। इस दौरान कोविड से बचाव के लिए 31 मई तक नई गाइडलाइंस को जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने बोला कि पहले संक्रमण के लक्षण इतने साफ और स्पष्ट नहीं थे, अब जो लोग इस संक्रमण के शिकार पाए गए हैं, उनमें युवाओं का आंकड़ा अधिक देखने को मिल रही है।

भर्ती न हुए मरीजों को भी 60 फीसदी ज्यादा जोखिम: जंहा इस बारें में पता चला है कि विश्वभर में कई संक्रमितों को भले ही हॉस्पिटल में भर्ती न होना पड़ा हो, फिर भी उन पर लंबी बीमारियों और मौत का खतरा मंडरा रहा है। एक अध्ययन में लॉन्ग कोविड के स्वास्थ्य पर लंबे दुष्प्रभाव से जुड़ी सूचना दी गई है। नेचर पत्रिका में प्रकाशित इस शोध में 73 हजार से अधिक ऐसे संक्रमितों के मेडिकल रिकॉर्ड खंगाले गए, जिन्हें भर्ती कराने की नौबत नहीं आई। लेकिन संक्रमण के 6 महीने के अंदर इन लोगों में अन्य बीमारियों से पीड़ितों की तुलना में मौत का 60 प्रतिशत अधिक जोखिल मिला।

मन की बात में बोले पीएम मोदी- 'अफवाहों पर ना दें ध्यान, इस समय वैक्सीन बहुत जरूरी'

बेंगलुरु में एक दिन में तेजी से बढ़ा कोरोना के संक्रमण का आंकड़ा, कुल इतने केस किए गए दर्ज

रेलवे का बड़ा ऐलान- इन शहरों में अब नहीं चलेगी ट्रेनें, जानिए कौन-कौन सी ट्रेनें कीं निरस्त?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -