जारी हुए यूपी बोर्ड परीक्षा के नए निर्देश, जानिए क्या हुए बदलाव?

उत्तर प्रदेश बोर्ड 2023 सेशन की परीक्षाओं की तैयारियां जोरों पर हैं। इसी क्रम में आगरा में माध्यमिक शिक्षा परीक्षा केंद्र बनाने के लिए जियो टैगिंग अनिवार्य कर दी गई है। एग्जाम सेंटर बनने के पश्चात् उसमें फायर सिस्टम सही रखने, डबल लॉक वाली अलमारी रखने, CCTV कैमरे, डीवीआर, स्कूलों की सड़क से कनेक्टिविटी, इलेक्ट्रिसिटी कनेक्शन, इन्वर्टर, जनरेटर, कम्प्यूटर, कंप्यूटर ऑपरेटर एवं हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन रखने के भारी भरकम गाइडलाइन जारी कर दी गई हैं।

परिषद आगरा जिले के सभी मान्यता प्राप्त विद्यालयों की जियो टैगिंग करा रहा है। राजकीय विद्यालयों के प्रिंसिपलो को जियो टैगिंग करवाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। विद्यालयों की जिओ टैगिंग के लिए 16 टीमें बनाई गई हैं। सभी टीमें अलग-अलग ब्लॉक में जाकर विद्यालयों की जिओ टैगिंग करवाने का काम कर रही हैं। संयुक्त शिक्षा निदेशक ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद ने बोर्ड परीक्षा के लिए नई गाइडलाइन जारी की हैं। जिले के 904 मान्यता प्राप्त विद्यालयों में जियो टैगिंग का काम किया जा रहा है। टीम विद्यालयों पहुचंकर पोर्टल पर डाटा अपलोड करा रही हैं।

वही सभी विद्यालयों को परीक्षा केंद्रों के बीच तय दूरी रखने के नियम का पालन करने के निर्देश दिये गए हैं। संयुक्त शिक्षा निदेशक आर पी शर्मा ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में विद्यालयों की जियो टैगिंग का काम पूरा कर लिया जाएगा। विद्यालयों को अपने फायर सिस्टम सही रखने, पेपर एवं कॉपियां रखने के लिए डबल लॉक वाली अलमारी रखने, CCTV कैमरे ठीक रखने, विद्यालयों की सड़क से कनेक्टिविटी का ध्‍यान रखने, बिजली का कनेक्शन एवं इन्‍वर्टर दुरुस्‍त रखने, तथा हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

मां के मना करने पर भी फोड़ा बम, 10 वर्षीय मासूम की हुई दर्दनाक मौत

टिफिन को उल्टा रख फोड़ा 'सुतली बम', लड़की का हो गया ये हाल

बंगाल में क्यों लगे 'शत्रुघ्न सिन्हा लापता' के पोस्टर ?

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -