प्रदेश में अब नही खुलेंगे नए इंजीनियरिंग कॉलेज

Jan 04 2017 07:34 PM
प्रदेश में अब नही खुलेंगे नए इंजीनियरिंग कॉलेज

भोपाल:  मध्यप्रदेश में बढ़ती कॉलेजों की संख्या को देखते हुए हाल ही में एक अहम निर्णय लिया गया है जिसके चलते अब कोई और प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज नहीं खोला जाएगा. छात्रों की अटेंडडेंस ऑनलाइन होगी. इसके साथ ही छात्रों के पास ड्राइविंग लाइसेंस और हेलमेट नहीं होने पर उन्हें कॉलेजों में दाखिला नहीं मिलेगा. तकनीकी शिक्षा पर हुए सेमिनार में तकनीकी शिक्षा मंत्री दीपक जोशी ने सरकार के ये फैसले बताए. जिसमे दीपक जोशी ने कहा कि, इंजीनियरिंग कॉलेजों की भरमार है, जिनमें एडमिशन नहीं हो रहे है. इस बारे में जल्द ही AICTE को पत्र भेज कर सूचित किया जायेगा. जिसमें प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों की स्थिति से अवगत कराते हुए नए तकनीकी संस्थान खोलने की अनुमति नहीं देने के लिए कहा जाएगा.

आपको बता दे कि इंजीनियरिंग कॉलेजों की उपस्थिति को लेकर लगातार मिल रही शिकायतों के बाद उन पर लगाम कसने के लिए भी एक बड़ा फैसला लिया गया है, जिसके बाद अब शिक्षकों और विद्यार्थियों की उपस्थिति ऑनलाइन दर्ज की जाएगी. साथ ही सभी इंजीनयरिंग कॉलेजों को अपना अटेंडेंस रिकार्ड युनिवर्सिटी को भेजना होगा ताकि कॉलेजों में पढ़ाई को लेकर कोई लापरवाही ना बरती जा सके.

इंजीनियरिंग कॉलेज पर लगाम लगाने के साथ ही अब छात्रों व प्रोफेसरों को ड्राइविंग लाइसेंस, हेलमेट और गाड़ी के कागजात बिना प्रवेश नही दिया जायेगा.  

रैगिंग का विरोध करने पर किया घिनौना काम

निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों में...