बजाज बाइक का नया अवतार मिला INS विक्रांत से

बजाज बाइक का नया अवतार मिला INS विक्रांत से

भारत में पहली बार मोटर साइकिल का निर्माण एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रांत की धातू से होगा। बताया जा रहा है कि बजाज की मोटर साइकिलें अब कंपनी विक्रांत के एयर एयरक्राफ्ट कैरियर के मेटल से बनेंगीं।

नाम होगा विक्रांत पर-

जानकारी के अनुसार बजाज बाईक अपना नया माॅडल लाॅन्च करने वाला है और जहां तक यह बहुत ही जल्दी इसे लाॅन्च कर देगा। अनुमान लगाया जा रहा है कि यह मोटरसाईकिल 1 फरवरी 2016 को ही बाजार में उतार देगा। बजाज कि यह बाईक विक्रांत के मेटल से बनेगी इसलिए इसका नाम भी कुछ इसी पर से होगा। इस बाईक का नाम V पर आधारित होगा। और यह भारत की मिलिट्री हिस्ट्री के लिए यादगार होगा। जंहा तक अभी इस बाईक की कीमत के बारे में पता नहीं चला है।

ये होंगी खासियत-

बजाज V बाईक का इंजन 150cc का होगा। इसके साथ ड्यूल रियर शोक आॅब्जर्वर होंगे। 10 स्पोक अलाॅय व्हील्स के साथ डिज़ाइन रेट्रो रेसर बाइक की तरह यह हो सकती है।

विक्रांत का सफर कुछ यूं रहा-

INS विक्रांत को 1957 में ब्रिटेन से खरीदा गया था। उस समय इसका नाम हक्र्युलिस था। विक्रांत का यह नाम संस्कृत भाषा के विक्रांता से लिया गया था। विक्रांता का मतलब हदें पार करना होता है। इसके बाद से ही 1961 में इसे पहली बार भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था। 1971 में भारत-पाकिस्तान के युध्द में विक्रांत ने अद्भुत भुमिका निभाई थी। जो हमेशा यादगार रहेगी। इसके अलावा बांग्लादेश को भी आजाद करने का अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका के कारण इससे जुड़े अधिकारियों को दो महावीर चक्र और 12 वीर चक्र भी दिये गये थे।

विक्रांत के इस पूरे सफर में इसने पूरे 36 साल की सर्विस के बाद 31 जनवरी 1997 में इसे रिटायर कर दिया गया था। और 2012 तक मुम्बई में एक म्यूजियम के समान इसका इस्तेमाल किया गया था। काफी विरोध होने के बावजूद सरकार ने इसका अप्रैल 2014 में डिस्मेंटल कर कबाड़ में बेचने का फैसला किया। और एक नीलामी में 60 करोड़ रुपए में शिप ब्रेकिंग कंपनी आईबी कमर्शियल्स को बेच दिया गया।