'मैगी' को लेकर फिर आई बुरी खबर, Nestle ने खुद माना- ये सेहत के लिए अच्छी नहीं

नई दिल्ली: भारतीय बाज़ार की बेहद लोकप्रिय फूड प्रोडक्ट मैगी (Maggi) एक बार फिर सुर्ख़ियों में आ गई है. किन्तु, इस बार किसी फूड डिपार्टमेंट या सरकार ने नहीं, बल्कि स्वयं नेस्ले (Nestle) ने स्वीकार किया है कि मैगी सहित उसके 60 फीसदी फूड प्रोडक्ट और ड्रिंक्स सेहतमंद नहीं है. मतलब इन्हें खाना या पीना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है. कंपनी के अनुसार, वह अपने प्रोडक्ट्स में न्यूट्रिशनल वैल्यू की जांच कर रही है. उत्पादों की जांच के बाद रणनीति बदलकर काम किया जाएगा. यह सेहत से संबंधित मामला है. प्रोडक्ट को टेस्टी और सेहतमंद बनाने का प्रयास किया जा रहा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नेस्ले का यह बयान आंतरिक सर्वे पर आधारित है. रिपोर्ट में कहा गया है कि नेस्ले के 37 फीसदी फूड एंड ड्रिंक्स प्रोडक्ट्स की रेटिंग 3.5 है. यह रेटिंग ऑस्ट्रेलिया की हेल्थ स्टार रेटिंग सिस्टम द्वारा दी गई है. इस सिस्टम के अनुसार, प्रोडक्ट्स को रेटिंग 1 से 5 तक दी जाती है. सिस्टम के आंकड़ों का उपयोग इंटरनेशनल ग्रुप्स में हर जगह होता है. बता दें कि केवल भारत में ही नहीं, पूरी दुनिया में नेस्ले (Nestle) के प्रोडक्ट पॉपुलर हैं.

इसमें सबसे ऊपर मैगी (Maggi) का नाम आता है. इसके बाद कंपनी का दूसरा पॉपुलर प्रोडक्ट Nescafe है. कंपनी की इंटरनल रिपोर्ट के अनुसार, 60 फीसदी फूड प्रोडक्ट सेहतमंद की श्रेणी में नहीं आते. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी ने यहां तक कहा है कि कुछ प्रोडक्ट ऐसे हैं, जो कभी सेहतमंद नहीं थे और उन्हें सुधारने के बाद भी वो सेहतमंद नहीं रहे. 

कच्चे तेल की कीमत में तीन महीने में आया सबसे अधिक उछाल

भारत का पीएमआई 50.8 पर, विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधि में मई में आई गिरावट

वित्त वर्ष 22 में भारत की अर्थव्यवस्था में 9.3 प्रतिशत तक की हो सकती है बढ़ोतरी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -