भारत में होगी नेपाल के राजदूत की बहाली

भारत में होगी नेपाल के राजदूत की बहाली

काठमांडू : नेपाल की माओवादी नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने भारत में नेपाल के बर्खास्त राजदूत को फिर से बहाल करने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से भारत और नेपाल के बीच फिर से संबंध सुधारने की पहल होती नज़र आ रही है। राजदूत को फिर से नियुक्त करने की पहल को सराहा जा रहा है। नेपाल के प्रधानमंत्री ने गुरूवार को आयोजित की गई कैबिनेट बैठक में नेपाल के राजदूत दीप कुमार उपाध्याय जो कि भारत में नियुक्त थे उन्हें फिर से नियुक्त करने का निर्णय दिया गया था।

इस मामले में यह जानकारी सामने आई है कि कैबिनेट बैठक के बाद नेपाल सरकार के प्रवक्ता और सूचना व संचार मंत्री राम कार्की ने भारत में पुराने राजदूत उपाध्याय को वापस भेजने के निर्णय की जानकारी भी दी। नेपाल के प्रधानमंत्री प्रचण्ड के 15 सितंबर से प्रस्तावित भारत दौरे को लेकर उपाध्याय को दिल्ली भेजने का निर्णय लिया गया है।

दरअसल ओली सरकार को समर्थन देने वाली माओवादी सरकार ने अपना समर्थन वापस लेकर कांग्रेस के साथ सरकार बनाने का प्रयास भी किया था। इस दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री ओली ने भारत में रहकर विपक्षी दल के पक्ष में कार्य करने और उनकी सरकार गिराने का षड्यंत्र रचने का आरोप लगाते हुए भारत में राजदूत रहे उपाध्याय को निलंबित कर दिया था। इस दौरान माओवादियों ने 24 घंटे में सरकार से समर्थन वापसी के निर्णय पर कुछ दिनों के लिए ओली सरकार को बचा लिया।

नहीं चढ़े थे एवरेस्ट पर भारतीय कपल, अब लगाया प्रतिबंध

112 साल की यह महिला पिछले 95 साल से रोज पीती है सिगरेट