विरोधी हिंसा के बीच नेपाल में आज जारी होगा संविधान

By Sandeep Meena
Sep 20 2015 04:12 AM
विरोधी हिंसा के बीच नेपाल में आज जारी होगा संविधान

काठ्माण्डु: 8 सालों के इंतज़ार के बाद नेपाल रविवार की शाम नया संविधान जारी करने जा रहा है. काठ्माण्डु स्थित संसद भवन परिसर में विशेष समारोह के बीच नेपाल के राष्ट्रपति डा. रामवरण यादव संविधान जारी करेंगे. हालांकि इस बीच संविधान का कड़ा विरोध भी किया जा रहा है. संविधान में नेपाल के मधेशी समुदाय के अधिकार में कटौती किए जाने को लेकर बीते एक महीने से आम हड़ताल जारी है. इस हड़ताल के चलते 40 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और सैकडों लोग घायल भी हो चुके है. लेकिन सरकार जरा भी सुनवाई के पक्ष में नहीं है.

नेपाल में नए संविधान का विरोध इतना आक्रामक हो चूका है कि भारत से लगे 14 जिलों में कर्फ्यू लगा कर सेना को तैनात कर दिया गया है. 6 जिलों को दंगाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर दिया गया है. भारत से लगने वाले सभी जिलों में भय और आतंक का माहौल है. हालत इतने ख़राब है की हजारो लोगो ने यूपी बिहार जैसी जगहों में पनाह ले रखी है. नेपाल में बिगड़ रहे हालत को लेकर भारत ने चिंता जताई है. गौरतलब है की नेपाल में हिंसा और हत्या जैसी कई वारदात बढ़ रही है. मोदी के विशेष दूत बनकर आए विदेश सचिव ने नेपाल के बडे नेताओं से मिल कर साफ संदेश दे दिया है कि हत्या, हिंसा विरोध, बन्द और कर्फ्यू के बीच आने वाले संविधान का भारत समर्थन नहीं करेगा.