नेपाल प्रधानमंत्री की भारत यात्रा तब सफल होगी जब मधेसियों की मांग पूरी होगी

नई दिल्ली : नेपाल के प्रधानमंत्री के पी ओली का भारत दौरा इस पर निर्भर करता है कि वह आंदोलनकारियों की मांगों पर किस प्रकार का रुख अपनाते हैं. एक वरिष्ठ मधेसी नेता ने इस बात को कहा है तथा साथ ही यह भी कहा है कि उनका विरोध प्रदर्शन केवल अस्थायी रूप से निलंबित हुआ है.

यूनाइटेड डेमोक्रेटिक मधेसी फ्रंट (UDMF) के घटक सद्भावना पार्टी के अध्यक्ष राजेंद्र महतो के मुताबिक 19 फरवरी से शुरू होने वाला ओली का 6 दिवसीय भारत दौरा तभी सफल होगी जब ओली उनकी चिंताओं के समाधान के लिए प्रतिबद्धता जताएं. उन्होंने काठमांडो में कहा कि UDMF की ओर शुरू किये गए एवं 6 महीने तक चले आंदोलन के दौरान लोगों और भारत सरकार की ओर से हमारे मुद्दों को भारी समर्थन प्रदर्शित किया गया था. इसलिए अगर पीएम ओली अपने भारत दौरे को सफल बनाना चाहते हैं तो उन्हें हमारे मुद्दों का समाधान करना चाहिए.

नेपाल सरकार को ओली की यात्रा शुरू होने से पहले सकारात्मक संकेत देने चाहिए जिससे उन्हें वहां सकारात्मक रुख मिले. महतो ने ध्यान खींचते हुए कहा किUDMF की ओर से शुरू आंदोलन अभी ख़त्म नही हुआ है जिसमें तराई-मधेसी लोकतांत्रिक पार्टी और मधेसी जन अधिकार फोरम़़नेपाल भी शामिल था. उन्होंने बताया कि हमने सिर्फ आंदोलन का स्वरूप बदला है, अभी यह ख़त्म नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में हमने सीमा केंद्रित आंदोलन को परिवर्तित किया है ताकि लोगों को कुछ राहत मिले लेकिन आंदोलन अभी समाप्त नहीं हुआ है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -