फिर थर्राया नेपाल, सुबह 6.25 पर महसूस हुए भूकंप के झटके

Apr 27 2015 08:32 AM
फिर थर्राया नेपाल, सुबह 6.25 पर महसूस हुए भूकंप के झटके
काठमांडु : नेपाल में शनिवार से भूकंप का असर देखा जा रहा है। जहां बीते रविवार को करीब 6.5 तीव्रता का भूकंप आने से लोगों का दिल दहल उठा वहीं सोमवार को फिर भूकंप के आफ्टर शॉक्स आने से लोग डर गए। प्रातः 6.25 बजे सहमे हुए लोगों झपकी लेकर उठे ही थे कि फिर मौत करीब पाकर वे सुरक्षित क्षेत्रों की ओर जाने लगे। 

मिली जानकारी के अनुसार भूकंप के झटकों से लोगों को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ वहीं मलबे में दबे हुए लोगों को निकालने का काम लगातार जारी है। दूसरी ओर नेपाल में अब तक 3000 से भी ज्यादा लोग काल के गाल में समा चुके है। दूसरी ओर करीब 6 हजार से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं। लोगों से अस्पताल पटे हुए हैं। 

कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां लोग खाने के पैकेटों के लिए आपस में लड़ रहे हैं त्रासदी का यह मंज़र बेहद भयावह है। नेपाल भूकंप को शेष - कल नेपाल में बारिश होने से राहत और बचाव कार्य में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन अब लागातार बचाव कार्य तेजी से किया जा रहा है। भारत ने अपने देश से करीब 34 सदस्यीय दल नेपाल के लिए रवाना कर दिया है। दूसरी ओर 15 टन चिकित्सकीय साजो सामान भी नेपाल के लिए रवाना किया है।

नेपाल में आई भीषण त्रासदी का असर हिमालय बेल्ट पर भी पड़ा है। हालात ये रहे कि हिमालयी बेल्ट में मौजूद सर्वोच्च शिखर माउंट एवरेस्ट में हिमस्खलन के बाद यहां के बेस केंप में 22 पर्वतारोहियों की मौत हो गई। दूसरी ओर विदेशियों के साथ सैकड़ों पर्वतारोही वहां फंसे हुए हैं। हिमस्खलन के चलते 60 पर्वतारोहियों के घायल होने की जानकारी है। मामले को लेकर सेना राहत और बचाव कार्य में जुटी है। सेना के फील्ड इंजीनियर्स को एक विमान के साथ नेपाल भेजा गया है।