अंतिम संस्कार से पहले हटाया कफ़न तो चौंक गए सभी...

भिंड : एक परिवार के उस वक़्त होश उड़ गए जब वे लाश को बहाने की पूरी तैयारी कर चुके थे लेकिन, जब लाश का आखिरी बार चेहरा देखना चाहा तब पता चला जिसे परिजन अपना बेटा पवन समझ रहे थे दरअसल वह कोई और ही शख्स है. तब परिजनों को समझ आया कि अस्पताल में लाश की अदला-बदली हो गई है. अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते 19 वर्षीय पवन की लाश एक 36 वर्षीय शख्स विशंभर से बदल दी गई.

भिंड के जिला अस्पताल में इतनी बड़ी चूक होना एक गंभीर मामला है. इस पर परिजन तुरंत पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे जहाँ एक अन्य परिवार एक लाश ले जाने की तैयारी कर रहा था. पवन के परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों से जब मामले के बारे में बात की तब दूसरी लाश का चेहरा देखा गया तब यह बात सामने आई की लाश की अदला-बदली हो गई है. बताया जा रहा है कि पवन और विशंभर ने एक ही दिन फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी जिसके बाद दोनों की डेड-बॉडी पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाई गई थी. दोनों ने मंगलवार 16 जनवरी को फांसी लगा ली थी. 

वहीँ जिला अस्पताल में 17 जनवरी बुधवार के दिन कुल 5 शवों का पोस्टमार्टम किया था. पोस्टमार्टम के बाद शवों को टैग लगाकर पोस्टमार्टम हाउस में रखा जाता है जहाँ से परिजन डेड-बॉडी को ले जाते हैं. बस वहीँ पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों से गलती हो गई और उन्होंने टैग लगाने में लापरवाही बरती. कर्मियों ने पवन का टैग विशंभर की लाश पर और विशंभर का टैग पवन की लाश पर लगा दिया था. वहीँ जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. अजीत मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि शव आपस में बदल जाना बहुत ही गंभीर विषय है. उन्होंने तुरंत जांच के आदेश देते हुए कहा कि जांच में जो दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ शख्त से शख्त कार्यवाई कि जायेगी.

इस महिला ने मर चुकी बच्ची की पोस्टमार्टम बॉडी के साथ करवाया फोटोशूट

80 फीसदी जली क्षत-विक्षत लाश मिली

पत्नी की हत्या कर लाश के टुकड़ों को घर में जलाया

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -