नीति आयोग के उपाध्यक्ष का बड़ा बयान, एक बार फिर होगी नोटबंदी !

Sep 04 2018 04:52 PM
नीति आयोग के उपाध्यक्ष का बड़ा बयान, एक बार फिर होगी नोटबंदी !

नई दिल्ली: नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था पर क्या असर पड़ा है, इसको लेकर अभी सियासत गर्म है. रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा नोटबंदी पर जारी की गई रिपोर्ट ने इस मुद्दे पर आग में घी का काम किया है. आरबीआई की रिपोर्ट में इसके दुष्परिणाम दिखाए गए हैं, जिसे लेकर विपक्ष केंद्र सरकार को घेरने में लगी हुई है. लेकिन इन सबके बीच नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार के एक बयान ने देशवासियों की धड़कनें फिर से तेज़ कर दी हैं.

आरबीआई रिपोर्ट का खुलासा, नोटबंदी से देश को हुए तीन बड़े नुकसान

उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने नोटबंदी का बचाव करते हुए कहा है कि नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था पर किसी भी तरह का नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ा है. एक न्यूज़ चैनल को साक्षात्कार देते हुए राजीव ने कहा कि नोटबंदी समाज कि सफाई करने और काले धन पर लगाम लगाने के लिए कि गई थी, उन्होंने यह भी कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो एक बार फिर नोटबंदी की जा सकती है. 

सत्ता का दुरूपयोग: संसदीय रिपोर्ट ने दिखाई नोटबंदी की सच्चाई, भाजपा ने लगाया रिपोर्ट पर बैन

आपको बता दें कि रिज़र्व बैंक कि रिपोर्ट ने जो आंकड़े पेश किए हैं, उसके अनुसार नोटबंदी के बाद से बैंकिंग सेक्टर्स में धन कम हुआ है और लोग नगदी जमा में ज्यादा विश्वास करने लगे हैं, वहीं रिपोर्ट में नोटबंदी को विनिर्माण क्षेत्र में भी गिरावट लाने का कारण बताया गया है, रिपोर्ट में बताया गया है कि 2015-16 में जो कुल जीवीए विकास में उद्योग का योगदान 33.5 प्रतिशत था, वो 2017-18 में घटकर मात्र 20.0 प्रतिशत रह गया है. साथ ही बैंकों की गिरती क्रेडिट ग्रोथ के लिए भी रिपोर्ट में नोटबंदी को जिम्मेदार ठहराया गया है. 

 खबरें और भी:-

ऑल स्टेट कश्मीरी पंडित कॉन्फ्रेंस का सरकार पर इल्ज़ाम

कारगिल चुनाव : बीजेपी का पहली बार खुला खाता, जानें किस पार्टी को बहुमत मिला

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह: ममता ने किया 2020 तक कुपोषण ख़त्म करने का दावा, पर कुछ और ही कहते हैं आंकड़े

 

?