मलेरिया से लेकर मधुमेह तक के लिए असरदार है नीम, जानिए इसके बेजोड़ फायदे

अगर आपके घर के सामने नीम का पेड़ है तो आप लकी हैं। अब आप कहेंगे हम ऐसा क्यों कह रहे हैं। जी दरअसल गर्मी में ठंडी हवा देने के साथ ही ये एक ऐसा पेड़ है जिसका हर हिस्सा किसी न किसी बीमारी के इलाज में कारगर है। जी हाँ और केवल यही नहीं बल्कि विभि‍न्न प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों के निर्माण में भी नीम को प्रमुख रूप से इस्तेमाल किया जाता है। अब आज हम आपको बताने जा रहे हैं नीम के फायदे।

नीम के फायदे-

जल जाने पर- अगर आप खाना बनाते वक्त या किसी दूसरे कारण से अपना हाथ जला बैठी हैं तो तुरंत उस जगह पर नीम की पत्तियों को पीसकर लगा लें। जी दरअसल इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुण घाव को ज्यादा बढ़ने नहीं देता है।

कान दर्द में- अगर कान में दर्द रहता है तो नीम का तेल इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद रहेगा। जी दरअसल कई लोगों में कान बहने की भी बीमारी होती है, तो ऐसे लोगों के लिए भी नीम का तेल एक कारगर उपाय है।

दांतों के लिए- दांतों और मसूड़ों की देखभाल के लिए नीम की दातुन कारगर है। जी दरअसल नीम की दातुन पायरिया की रोकथाम में असरदार है।

मलेरिया- नीम एक प्राकृतिक मच्छर repellant के रूप में कार्य करता है। जी हाँ और नीम के पत्ते मलेरिया के लक्षणों का प्रभावी ढंग से इलाज कर सकते हैं और रोग के खतरे को कम कर सकते हैं। 

अन्य बीमरियां- नीम की छाल का इस्तेमाल मलेरिया, पेट और आंतों के अल्सर, त्वचा रोग, दर्द और बुखार को ठीक करने में किया जाता है। जी दरअसल नीम में ऐसे रसायन की खान हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को कम करने, पाचन तंत्र में अल्सर को ठीक करने, बैक्टीरिया को मारने और मुंह में प्लाक के निर्माण को रोकने में मदद कर सकते हैं। नेत्र विकार, नकसीर, आंतों के कीड़े, पेट की ख़राबी, भूख न लगना, त्वचा के अल्सर, हृदय और रक्त वाहिकाओं के रोगों (हृदय रोग), बुखार, मधुमेह, मसूड़ों की बीमारी (मसूड़े की सूजन) और जिगर के रोग नीम से ठीक हो जाते हैं। 

बनानी है चटपटी सलाद तो एक बार जरूर ट्राय करें मसाला चना सलाद

गर्मी में जरूर पियें आलूबुखारा का जूस, शरीर को होंगे कई फायदे

अध्ययन में पाया गया है कि मंकीपॉक्स हवा से आसानी से संचारित नहीं होता है

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -