क्या तालिबानियों का प्रवक्ता है NDTV? हत्या- बच्चियों से शादी पर दिखा रहा आतंकियों के तर्क

क्या तालिबानियों का प्रवक्ता है NDTV? हत्या- बच्चियों से शादी पर दिखा रहा आतंकियों के तर्क
Share:

नई दिल्ली: आतंकियों के कुकर्मों को छुपाना और उनके बेतुकी दलीलों को तर्क बनाकर पाठकों/दर्शकों के सामने पेश करना, शायद NDTV की पत्रकारिता का तरीका ही बन चुका है। यही वजह है कि इस बार NDTV ने अफ़ग़ानिस्तान को नरक बनाने पर तुले आतंकी संगठन तालिबान को अपने प्लेटफॉर्म पर जगह दी है। दरअसल, हाल में खबर आई थी कि तालिबान ने अफगान के 22 सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी है। ये खबर हर जगह थी, किन्तु NDTV दर्शकों के लिए इस खबर का 'रियलिटी चेक' लेकर आया है। NDTV ने सीधा तालिबान के प्रवक्ता से संपर्क साधा और बताया कि जो खबर अफगान से आ रही हैं, वो तो हकीकत है ही नहीं, बल्कि सच वो है जो आतंकी संगठन तालिबान का प्रवक्ता NDTV पर बता रहा है।

दरअसल, NDTV ने रिएलिटी चेक का नाम देकर तालिबानी प्रवक्ता मोहम्मद सोहेल शाहीन के बयानों को सच्चाई के रूप में पेश किया है। इसमें तालिबानी प्रवक्ता ने कहा कि, 'हमारे यहाँ ऐसा कोई मामला नहीं है, जब हमने सरेंडर हुए लोगों को मारा हो।'

भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दकी की निर्मम हत्या पर NDTV से सोहेल ने कहा कि, 'आप ऐसा नहीं कह सकते कि दानिश को हमारे लड़ाकों ने मारा। वो क्रॉस फायरिंग में मारा गया है।' भारत, तालिबानियों का दोस्त है या दुश्मन? इस सवाल तक पर NDTV ने सोहेल के जवाब के हवाले से लिखा है कि 'ये तो भारत पर निर्भर होता है कि वो दोस्त हैं या दुश्मन।'

15 वर्ष की लड़कियों के तालिबानी आतंकियों से जबरन निकाह पर तालिबानी प्रवक्ता के बयान को रिएलिटी चेक का हिस्सा बताकर पाठकों के सामने पेश किया गया। इसके जवाब में सोहेल ने कहा कि, 'ये इस्लाम के नियम के खिलाफ है कि किसी आदमी को उसकी बेटी देने के लिए दबाव डालें। ये हो ही नहीं सकता। ये फेक न्यूज है।'

तालिबान को पाकिस्तान का समर्थन है या नहीं? इस सवाल पर सोहल ने NDTV से कहा है कि, 'आप कहते हैं कि तालिबान के पीछे पाकिस्तान का हाथ है, किन्तु मुझे लगता है कि पाकिस्तान से दुश्मनी की वजह से आप ऐसा कहते हैं, न कि अफगानिस्तान की वास्तविकता के आधार पर।' बता दें कि अफ़ग़ानिस्तान के क्रिकेटर रशीद खान ने कुछ दिन पहले ही ट्वीट करते हुए अफ़ग़ानिस्तान की दयनीय स्थिति के बारे में बताया था और वैश्विक समुदाय से मदद मांगी थी।

 

रशीद ने अपने ट्वीट में लिखा था कि 'प्रिय विश्व नेताओं! मेरा देश अराजकता में है, बच्चों तथा महिलाओं समेत हजारों निर्दोष व्यक्ति रोजाना शहीद हो जाते हैं, घर एवं संपत्ति नष्ट हो रही है। एक हजार परिवार विस्थापित हुए। हमें अराजकता में मत छोड़ो। अफ़ग़ानों को मारना बंद करो और अफगानिस्तान को नष्ट करना बंद करो। हम शांति चाहते हैं।' लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि NDTV को अफ़ग़ानिस्तान के एक सम्मानित क्रिकेटर से अधिक आतंकियों के प्रवक्ता पर भरोसा है, तभी शायद उसने सोहेल शाहीन के बयानों को 'Reality_Check' के नाम पर पेश किया है। वैसे भी 'बन्दूक की गोली को लानत' भेजने वाले से क्या उम्मीद की जा सकती है। 

RBI का बड़ा फैसला, रद्द किया इस बैंक का लाइसेंस

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर आई अच्छी खबर, जानिए आज का भाव

920 स्थानों पर होगा सामूहिक राष्ट्रगान का आयोजन, भारतीय जनता युवा मोर्चा ने किया एलान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -