NCP सांसद अमोल कोल्हे ने फिल्म में निभाई 'गोडसे' की भूमिका, मचा बवाल

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता और पश्चिमी महाराष्ट्र के शिरूर से लोकसभा सांसद अमोल कोल्हे व‍िवादों में घिरते नज़र आ रहे हैं. यह व‍िवाद महात्मा गांधी का क़त्ल करने वाले नाथूराम गोडसे पर बनी एक फिल्म में उनकी भूमिका को लेकर हुआ है. यह फिल्म 2017 में बनी थी, मगर र‍िलीज अब हो रही है. कोल्हे ने शिवसेना पार्टी में रहकर फिल्म में गोडसे का रोल अदा किया था. उन्‍होंने शुक्रवार को इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा कि उन्‍होंने कभी भी महात्मा गांधी के कातिल के विचारों और कार्यों का समर्थन नहीं किया. बता दें कि कोल्हे एक जाने माने टीवी अभिनेता हैं, जिन्होंने एक टीवी सीरीज में छत्रपति शिवाजी की भूमिका निभाने के बाद लोकप्रियता प्राप्त की थी.

उन्हें अब अपनी ही पार्टी के साथ ही महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (MVA) सरकार में सहयोगियों की आलोचना भी झेलनी पड़ रही है. सूबे के आवास मंत्री और NCP नेता जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि कोल्हे काफी अच्छे अभिनेता हैं, मगर उन्‍हें गोडसे का महिमामंडन करने वाली फिल्म  नहीं करना चाहिए थी. उन्होंने कहा कि, ‘एक सांसद के लिए इस प्रकार की भूमिका निभाना गलत है. कलाकार को समाज के साथ खड़ा होना चाहिए. विरोध, विरोध होता है. एक अभिनेता और एक व्यक्ति के रूप में भूमिका दो अलग-अलग चीजें नहीं हो सकती हैं.’

इस फिल्‍म का व‍िवाद इसलिए भी बढ़ रहा है, क्‍योंकि यह महात्मा गांधी की पुण्यतिथि 30 जनवरी को OTT प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने जा रही है. जब से फिल्म का 2.20 मिनट का ट्रेलर सोशल मीडिया पर जारी किया गया है, तब से ही इस पर विवाद जारी है. ट्रेलर में गोडसे (कोल्हे) को गांधी कि हत्या के बाद अदालत में बयान देते हुए भी दिखाया गया है. इस मामले में सफाई देते हुए कोल्हे ने शुक्रवार को एक वीडियो संदेश जारी किया, जिसमे उन्होंने कहा कि, ‘ऐसा लगता है कि हिंदी फिल्म ‘Why I Killed Gandhi’ में गोडसे के रूप में मेरी भूमिका की वजह से बहुत से लोग आहत हुए हैं. मैंने कभी भी गोडसे के कृत्य या महात्मा गांधी के विरुद्ध उसके विचारों का समर्थन नहीं किया. मैंने कभी फिल्‍म का प्रचार भी नहीं किया.’ उन्होंने कहा कि, ‘2017 में अभिनेता के रूप में, मैं फिल्मों में काम पाना चाहता था. इसे उसी संदर्भ में समझा और देखा जाना चाहिए.’

मलेशिया ने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी की पुष्टि की

विश्व आर्थिक मंच: आईएमएफ, ईसीबी ने वैश्विक आर्थिक अस्थिरता पर देशो को चेताया

एफआईएच ने पेनल्टी कार्नर के जारी किया गया नया रूल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -