राष्ट्रपति बनने की इच्छा पर कुछ इस तरह फूटे शरद पवार के बोल

राष्ट्रपति बनने की इच्छा पर कुछ इस तरह फूटे शरद पवार के बोल
Share:

पुणे। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने राष्ट्रपति पद के लिए चल रहे अपने संभावित नाम की बात को नकार दिया है। गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर शरद पवार को देश का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक अलंकरण पद्म विभूषण दिया गया था। जब पत्रकारों ने उनसे चर्चा की तो एक सवाल के जवाब में उनका कहना था कि अभी ऐसा कुछ नहीें होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि 12 सांसदों के साथ वाले व्यक्ति को इस तरह के पद पर आसीन होने की उम्मीद नहीं करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लोकसभा और राज्यसभा में एनसीपी सांसदों की संख्या 12 है ऐसे में मुझे इस पद पर आसीन होने की उम्मीद नहीं करना चाहिए। इस मामले में पवार ने कहा कि देश में बड़े पैमाने पर ऐसे लोग हैं जो कि इस महत्वपूर्ण पद के लिए राजनीतिक शक्ति की आवश्यकता महसूस करते हैं। मगर केवल क्षमता और संभावना ही राजनीति में काफी नहीं है राजनीतिक शक्ति की भी आवश्यकता होती है।

मिली जानकारी के अनुसार पवार ने पद्म विभूषण किसानों को समर्पित किया है। पद्म विभूषण मिलने पर उन्होंने कहा कि यह अलंकरण किसानों को समर्पित है साथ ही उन्होंने कहा कि देश द्वारा की गई मेरी पहचान यह अलंकरण है। उनका कहना था कि भारत के बाहर और भारत में भी उन्हें डाॅक्टरेट और अन्य सम्मान मिले हैं।

पद्मश्री पुरस्कारों से अनुराधा पौडवाल और कैलाश खेर होंगे सम्मानित

शरद पवार व मुरली मनोहर जोशी होंगे पद्म विभूषण से सम्माानित

ये है पद्म अवार्ड हासिल करने वाले गुमनाम हीरोज

 

 

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -