तीन बच्चों को बचाने में जिन्दा जल गया एक योद्धा, और पूरे मीडिया को होश तक नहीं...

हम जानते हैं कि करीना कपूर को दूसरा बच्चा होने वाला है।
हमें पता है कि BIG BOSS में निक्की तम्बोली ने कल रात क्या किया।   
यहां तक कि हमें ये भी पता होता है कि आने वाले दिनों में कौनसा स्टार किड फिल्मों में एंट्री लेगा। 

और इन तमाम अनर्गल बातों पर हम दिनभर गप्पे हांक सकते हैं .... लेकिन क्या आप जानते हैं कि कैडेट अमित राज कौन थे? मुझे आपका जवाब पता है और मैं आपको इसके लिए पूरी तरह से दोषी नहीं मानता। क्योंकि, मैं जानता हूँ कि हमें समाचारों पर केवल ऊलजलूल सियासी बयानबाज़ी और फूहड़ता ही देखने को मिलती है, कुछ और नहीं। इसलिए मैं ही आपको बताता हूँ कैडेट अमित राज के बारे में ....। 

7 दिसंबर को, सैनिक स्कूल (पुरुलिया) के कैडेट अमित राज बिहार के अपने गृहनगर में थे, जब उन्होंने अपने पड़ोस में लोगों की चीख-पुकार सुनी। दरअसल, एक घर में आग लग गई थी। अमित राज ने अपनी जान की परवाह किए बगैर घर में घुसकर 3 बच्चों को सुरक्षित निकाला जो अंदर फंसे हुए थे। जब तक उसने पहले दो बच्चों को बचाया और तीसरे को बचाने का फैसला किया, तब तक वह 85% जल चुके थे। वह तीसरे बच्चे को बचाने जैसी हालत में भी नहीं थे, फिर भी उन्होंने पूरा जोर लगाकर तीसरे  बच्चे को बचाने के लिए घर में प्रवेश किया, किन्तु इस दौरान वह 95% जल गए। जिसके बाद उन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में दिल्ली रेफर कर दिया गया। 13 दिसंबर को इस बहादुर योद्धा की जान चली गई। एक भी मीडिया चैनल ने इस अहम घटना को कवर नहीं किया। कितनी शर्म की बात है। यहां तक ​​कि Google इस घटना के बारे में अधिक जानकारी नहीं देगा। लेकिन जो भी अमित राज ने किया, उसके लिए उन्हें सलाम करने को दिल करता है।   

सेंसेक्स निफ्टी में बढ़त, विप्रो टॉप गेनर

इस मंदिर में न तो मिठाई और नहीं फूल बल्कि चढ़ाई जाती है ये चीज

एयर इंडिया के लिए बोली लगाने की तैयारी में जुटे टाटा और सिंगापुर एयरलाइंस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -