बिहार का पंचायत चुनाव लड़ने की फ़िराक में कई नक्सली, गिरफ्तार युवकों ने खोले राज़

पटना: बिहार के साहेबगंज थाने के पुलिस के हत्थे चढ़े युवकों ने पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे किए हैं। उन लोगों ने पुलिस को बताया है कि वे पश्चिमी क्षेत्र के कई हार्डकोर नक्सलियों को जानते हैं। वे उनके संपर्क में भी थे। नक्सलियों के हथियार भी छुपाया करते थे। शुक्रवार को साहेबगंज पुलिस ने हथियार बरामदगी के लिए रेड मारी थी। किन्तु, कोई सुराग नहीं मिल सका। इसके बाद तीनों युवकों को अदालत में पेश किया गया। वहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। 

पुलिस सूत्रों की माने तो पश्चिमी क्षेत्र के कई नक्सली पंचायत चुनाव लड़ने की फ़िराक़ में हैं। नक्सली इन युवकों के जरिए फंड भी इकठ्ठा कर रहे थे। इसके अलावा वे अपने क्षेत्र की बड़ी आबादी को जोड़ने में भी इनकी सहायता ले रहे थे। ताकि, चुनाव मैदान में उतरने में मदद मिले। अपनी छवि समाजसेवी के जैसी बनाना चाह रहे हैं। पुलिस को तीनों युवकों ने नक्सलियों के नाम और उनकी गतिविधियों के बारे में भी जानकारी दी है। इसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है। 

बता दें कि, साहेबगंज पुलिस ने बाइक तलाशी के दौरान तीनों युवकों को गिरफ्तार किया था। इनका नक्सली रमेश पासवान की कारबाइन के साथ फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। रमेश दो साल पहले पुलिस मुठभेड़ में मारा गया था। 

महंगा हुआ हवाई सफर, घरेलु फ्लाइट्स के किराए में 5 प्रतिशत का इजाफा

कमलप्रीत कौर ने टोक्यो ओलंपिक के लिए बनाया नया रिकॉर्ड

इस्तीफे की अटकलों के बीच गृह मंत्री अनिल देशमुख ने किया यह ट्वीट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -