नवाज की हालत गंभीर होने पर भी अस्पताल में भर्ती नहीं करा रहा प्रशासन

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पनामा पेपर लीक मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद जेल में बंद हैं। खबरों के अनुसार, नवाज शरीफ की हालत ठीक नहीं है और डॉक्टरों ने उनकी दोनों किडनी में समस्या बताई है। डॉक्टरों का कहना है कि नवाज को जल्द से जल्द अस्पताल में भर्ती नहीं कराया गया, तो उनकी हालत और बिगड़ सकती है। वहीं सूत्रों ने बताया कि जेल प्रशासन पूर्व प्रधानमंत्री को जेल से अस्पताल शिफ्ट करने में कोताही बरत रहा है। जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में ऐसी खबरें आई थीं कि जेल में पूर्व पीएम की हत्या की साजिश रची जा रही है। ऐसे में जेल प्रशासन का यह रवैया कई तरह के सवाल खड़े कर रहा है। 

रची जा रही है नवाज़ शरीफ को जेल के अंदर मारने की साजिश

सूत्रों की माने तो नवाज शरीफ को अस्पताल में भर्ती करवाने में प्रशासन काफी टाल-मटोल कर रहा है और वह नवाज को सभी सुविधाएं जेल में ही देने के लिए तैयार है. 'खबरों की माने तो नवाज शरीफ को जेल में मारने की साजिश रची जा रही है और कुछ कैदी ऐसे हैं जो उनपर कभी भी हमला कर सकते हैं'. वहीं डॉक्टर्स ने नवाज की जांच के बाद कहा कि उनके यूरिन में नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ गई है और उन्हें बहुत ज्यादा पसीना आ रहा है. पसीना ज्यादा आने की वजह से नवाज को डिहाइड्रेशन की समस्या हो गई है और उनके शरीर में पानी की कमी भी आ गई है, वहीं उनकी हृदय गति भी ठीक तरह से नहीं चल रही है.

पाक इलेक्शन में सेना करेगी नेता सिलेक्शन

गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर एवेनफील्ड प्रॉपर्टीज के मामले में दोषी पाए जाने पर 10 वर्ष की सजा हुई है. नवाज के साथ ही उनकी बेटी मरियम (44) और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) भी 7 वर्ष और 1 वर्ष कैद की की सजा भुगत रहे हैं.

खबरें और भी..

पाक में इमरान खान कर रहे जुमलों की बारिश

पाक में सेना पर भारी पड़ते नवाज़

कोर्ट के फैसले के ख़िलाफ़ नवाज़ ने दायर की अपील

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -