यह है नवमी का शुभ मुहूर्त, ऐसे करें श्री रामचंद्र का पूजन

Apr 13 2019 11:00 AM
यह है नवमी का शुभ मुहूर्त, ऐसे करें श्री रामचंद्र का पूजन

आप सभी को बता दें कि आज सुबह 08 बजकर 15 मिनट से नवमी तिथि प्रारंभ हो गई है जो 14 अप्रैल 2019 को सुबह 06 बजकर 04 मिनट तक रहने वाली है. ऐसे में आज शुभ मुहूर्त सुबह 11 बजकर 56 मिनट से दोपहर 12 बजकर 47 मिनट तक है. अब आइए जानते हैं राम नवमी की पूजन विधि. 

पूजन विधि -  आज ब्रह्म मुहूर्त में स्‍नान कर स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण करें. उसके बाद भगवान राम का नाम लेते हुए व्रत का संकल्‍प लें. अब अपने घर के मंदिर में राम दरबार की तस्‍वीर या मूर्ति की स्‍थापना कर उसमें गंगाजल छिड़कें. इसके बाद तस्‍वीर या मूर्ति के सामने घी का दीपक जलाकर रखें. अब इसके बाद रामलला की मूर्ति को पालने में बैठाएं और रामलला को स्‍नान कराकर वस्‍त्र और पाला पहनाएं. अब इसके बाद रामलला को मौसमी फल, मेवे और मिठाई समर्पित करें. खीर का भोग लगाना अति उत्तम माना जाता है तो वह करें और रामलला को झूला झुलाएं. इसके बाद धूप-बत्ती से उनकी आरती उतारें और आरती के बाद रामायण और राम रक्षास्‍त्रोत का पाठ करें. अब उसके बाद नौ कन्‍याओं को घर में बुलाकर उनको भोजन कराएं. साथ ही यथाशक्ति उपहार और भेंट देकर विदा करें और घर के सभी सदस्‍यों में प्रसाद बांटकर व्रत का पारण करें. 

मंत्र - इस राम नवमी आप राम नाम की 5 माला यानी तारक मंत्र का जप करें इससे आपको मनोरथ सिद्ध होंगे और आपको लाभ होगा. इसके लिए आप श्रीराम की फोटो रखकर विधिवत रूप से पूजन करें और 'ऊं रामभद्राय नम:' मंत्र की कम से कम 4 माला का जाप करने से आपके कार्यो में आने वाली समस्त बाधायें दूर होगी और आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए इस दिन ऊं जानकी वल्लभाय स्वाहा मंत्र की 10 माला जाप करने से मान-सम्मान में बढ़त होगी. इसी के साथ ऊं नमो भगवते रामचन्द्राय मंत्र का कम से कम 5 माला का जाप करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होना शुरू हो जाती है.

अष्टमी पर करें मां महागौरी का पूजन

मां दुर्गा को भोजन बनाने चला था शेर लेकिन बन गया सवारी

नवरात्री के सातवें दिन जरूर पढ़े काली माँ चालीसा, होंगे सभी भी दूर