सिद्धू ने वापस लिया अपना इस्तीफा, लेकिन कामकाज संभालने के लिए रख दी ये अहम शर्तें

चंडीगढ़: पंजाब कांग्रेस में छिड़ी जंग थोड़ी नरम पड़ती दिखाई दे रहा है। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया है। हालांकि नवजोत सिंह सिद्धू ने कामकाज संभालने के लिए कुछ मांग रख दी है। सिद्धू ने कहा है कि नया AG तथा DGP के नए पैनल आने पर मैं पार्टी दफ्तर में कामकाज सम्भाल लूंगा। नवजोत सिंह सिद्धू ने चरणजीत सिंह चन्नी सरकार की नियुक्तियों का विरोध करते हुए इस्तीफा दिया था।

वही नवजोत सिंह सिद्धू की तरफ से चंडीगढ़ में आज प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई गई। सिद्धू ने स्वयं अपना इस्तीफा वापस लेने की खबर दी। सिद्धू ने बताया, ''मैं अपना इस्तीफा वापस ले रहा हूं। नया एजी एवं DGP के नए पैनल आने पर मैं पार्टी दफ्तर में कामकाज सम्भाल लूंगा।'' साथ ही सिद्धू का कहना है कि वह पार्टी अध्यक्ष एवं राहुल गांधी के लिए इस्तीफा वापस ले रहे हैं। सिद्धू ने बताया, ''पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी के लिए मैं अपना इस्तीफा वापस ले रहा हूं।''

इसके साथ ही सिद्धू ने दो मसलों पर 2017 में अकाली दल की सरकार जाने का दावा किया। उन्होंने बताया, ''दो मसलों पर 2017 में अकाली दल की सरकार चली गई थी। दो मसलों के कारण ही अमरिंदर सिंह की कुर्सी भी चली गई। बेअदबी तथा ड्रग्स दो मसले आज भी खड़े हैं।'' बता दें कि सिद्धू ने बेअदबी को लेकर कैप्टन अमरिंदर सिंह पर खूब निशाना साधा था। इसी कारण अमरिंदर को इस्तीफा देना पड़ा। मगर चन्नी सरकार ने जो नियुक्तियां की वो सिद्धू को रास नहीं आई तथा उसका विरोध करते हुए सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की घोषणा कर दी थी।

बुजुर्ग ने ऑनलाइन बुक की शराब और हो गया जालसाजी का शिकार

हाथ में ये अनोखी चीज लेकर NCB दफ्तर पहुंचे आर्यन खान

आतंकियों ने की सुरक्षाबलों पर अचानक फायरिंग, और फिर...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -