लखीमपुर हिंसा: क्राइम ब्रांच पहुंचे आशीष मिश्रा, सिद्धू ने लिया मौन व्रत...जानें मामले की पूरी अपडेट

लखनऊ: लखीमपुर हिंसा मामले में हर दिन नया मोड़ आ रहा है। आज केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे और मामले के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुँच चुके हैं। बता दें कि आशीष मिश्रा पर किसानों को गाड़ी से कुचलने का आरोप है, जिसमे 4 किसानों की मौत हो गई थी, वहीं इस घटने से आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने 3 भाजपा कार्यकर्ता और एक पत्रकार को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था।  

वही, पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने इस मुद्दे को लेकर मौन व्रत करने की घोषणा कर दी है। सिद्धू शुक्रवार को लखीमपुर पहुंचे थे, जहां उन्होंने हिंसा में मरे किसानों के परिवार वालों के साथ मुलाकात की। इसके बाद यहीं कांग्रेस नेता ने अपने हड़ताल का भी ऐलान कर दिया। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जब तक लखीमपुर हिंसा का मुख्य आरोपी गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी का बेटा आशीष मिश्रा अरेस्ट नहीं हो जाता, तब तक वो मौन व्रत पर रहेंगे। 

बता दें कि सिद्धू इस हिंसा में मारे गए स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप के घर उनके परिजनों से मिलने भी पहुंचे थे। यहाँ उन्होंने कहा कि, 'जब तक मिश्रा जी के बेटे आशीष के ऊपर एक्शन नहीं होता, वो जांच में शामिल नहीं होता, मैं यहां भूख हड़ताल पर बैठूंगा। इसके बाद मैं मौन हूं कोई बात नहीं करूंगा।' इसके बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने उसी जगह पर भूख हड़ताल भी शुरू कर दी। बता दें कि इससे पहले सिद्धू को गुरुवार को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर बॉर्डर पर हिरासत में लिया गया था। जिसके बाद उन्हें जब छोड़ा गया तो वो शुक्रवार को लखीमपुर पहुंचे।

वहीं, लखीमपुर से लौटने के बाद प्रिंयका गांधी वाड्रा ने अब पूरी तरह से योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सीएम योगी के एक बयान के विरोध में प्रियंका अचानक से लखनऊ के इंदिरा नगर के लवकुश नगर जा पहुंची। दलितों की इस बस्ती में पहुंचकर प्रियंका गांधी ने झाड़ू लगाकर सीएम योगी के प्रति विरोध जताया।

तेजस्वी यादव की RJD विधायकों को सीख, बोले- कल मेरा है का संकल्प लें...

अपनी ही पार्टी पर भड़के तेज प्रताप, बोले- बिहार की महिलाएं माफ नहीं करेंगी

तेलंगाना विधानसभा ने जाति जनगणना की मांग वाला प्रस्ताव किया पारित

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -