उत्तराखंड में कुदरत का कहर, चट्टान दरकने से बंद हुआ यमुनोत्री हाईवे, 36 बकरियों की गई जान

देहरादून: यमुनोत्री एवं गंगोत्री की ऊंची चोटियों पर शुक्रवार रात से हिमपात जारी है। पहाड़ों पर कई स्थानों पर बादल छाए हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ देर रात से हो रही वर्षा से यमुनोत्री राजमार्ग खनेड़ा के समीप चट्टान दरकने की वजह से बंद हो गया है।शनिवार को यमुनोत्री हाईवे खनेड़ा के समीप चट्टान दरकने की वजह से बंद हो गया। हाईवे पर प्रातः से यातायात ठप है। यमुनोत्री धाम जाने व आने वाले तीर्थयात्री हाईवे खुलने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। एनएच की मशीनें हाईवे खोलने में जुटी है। 

नेशनल हाईवे ने तीर्थयात्रियों की आवाजाही के लिए हाईवे को शीघ्र खोलने का दावा किया है। वहीं यमुनाघाटी इलाके में देर रात से रुक रुक कर वर्षा का सिलसिला जारी है। जिला आपदा प्रबंधन अफसर देवेंद्र पटवाल ने बताया कि हाईवे को खोलने का काम निरंतर जारी है। 

वही दूसरी तरफ मोरी ब्लाक के चांगसिल बुग्याल में बिजली गिरने से 36 भेड़-बकरियां मर गई। वाइल्ड लाइफ सेंचूरी इलाके के भीतरी गांव के ग्रामीणो की भेड़ बकरिया आजकल चुगान पर बुग्याल इलाके में है। भीतरी गांव के प्रधान राजीव कुंवर ने इसकी खबर स्थानीय प्रशासन को दी। स्थानीय प्रशासन ने राजस्व विभाग की टीम मौके पर भेज दी है। तहसीलदार चमन सिंह ने कहा कि राजस्व उप निरीक्षक को अवसर पर भेज दिया है।

सोशल मीडिया पर क्यों ट्रेंड कर रहा #BlackDayForIndianJudiciary ?

इन जिलों में होगी जमकर बारिश, जारी हुआ येलो अलर्ट

Ind Vs Eng: विराट कोहली फिर फेल, सोशल मीडिया पर दिखा फैंस का गुस्सा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -