इस मातृत्व दिवस पर पलट दीजिए अतीत के पन्ने और माँ के प्रति देश को बनाए जागरूक

Apr 11 2021 03:04 AM
इस मातृत्व दिवस पर पलट दीजिए अतीत के पन्ने और माँ के प्रति देश को बनाए जागरूक

यह बात तो सभी जानते है कि महात्मा गाँधी की पत्नी कस्तूरबा गाँधी का जन्म 11 अप्रैल 1869 को हुआ था, कस्तूरबा गाँधी के जयंती के सम्मान में प्रत्येक वर्ष 11 अप्रैल को राष्ट्रीय सुरक्षित मातृत्व दिवस के रूप में मनाया जाता है। लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षित मातृत्व दिवस किन उद्देश्यों के उपलक्ष में मनाया जाता है, आज हम इस बारें में बात करने वाले है। लेकिन उससे पहले हम जानते है कुछ महत्वपूर्ण बातें... 

माँ एक ऐसा शब्द है जिसमे पूरी सृष्टि समाई है, माँ कहा जाए या जननी ये एक उपाधि है जिसका स्थान कोई दूसरा नहीं ले सकता, आज के इस बदलते वक़्त में माँ की कई जिम्मेदारियां और भी बढ़ा दी है,  लेकिन इन जिम्मेदारियों के बाच भी माँ का प्रेम अपने बच्चे के लिए कभी कम नहीं हुआ है। माँ के इसी रूप को संजोय रखने के लिए प्रत्येक वर्ष 11 अप्रैल को राष्ट्रीय सुरक्षित मातृत्व दिवस मनाया जाता है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि क्या केवल ये एक दिन नारी के इस रूप के प्रति चिंतित होने से समाज, देश और विश्व की सारी जिम्मेदारी और सारे फ़र्ज़ पूरे हो जाते है, नहीं न तो उठिये और समझिए और जागरूक बनिए नारी के इस रूप के प्रति। 

पलट दीजिए अतीत के पन्नो को और यह जानने की कोशिश करिए कि क्यों माँ की सुरक्षा के प्रति चिंतित होने की जरुरत है। और यदि नहीं जान सकते तो ये जान लीजिए गर्भधारण से सम्बंधित परेशानियों के चलते दुनियाभर में प्रत्येक मिनट 1 माँ मौत का शिकार हो जाती है। इतना ही नहीं केवल भारत में सालाना 70 हजार से भी अधिक महिलाएं मातृत्व के सुख की और बढ़ते हुए काल के गाल में समा जाती है। आपको और हमे मौत के इन्ही आंकड़ों पर विराम लगाने का प्रयास करना चाहिए। लेकिन ये प्रयास अपने मुकाम तक तब पहुंचेगा जब समाज , देश, और इसी के साथ पूरा विश्व माँ के इस रूप को संजोने की प्रतिज्ञा में खुद को तत्पर रखेगा। ये हमारा एक छोटा सा सन्देश है पूरी दुनिया की जनता को की सृष्टि संरचना में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले माँ के इस रूप को गर्भावस्था और प्रसव के दौरान उन्हें ज्यादा प्यार और सुरक्षा दें। ताकि कोई भी नारी मातृ के सुख से वंचित कभी न हो। 

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव जारी, चौथे चरण के जाने लाइव अपडेट

कितने लोगों में कोरोना की एंटीबॉडी ? दिल्ली में जल्द शुरू हो सकता है छठा सीरोलॉजिकल सर्वे

लोकायुक्त ने मंत्री केटी जलील को भाई-भतीजावाद मामले में पाया गया दोषी