राष्ट्रीय महिला आयोग ने की 'डेरी फार्मिंग ट्रेनिंग' की शुरुआत, महिलाओं को 'आत्मनिर्भर' बनाना उद्देश्य

नई दिल्ली: देश की ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वतंत्र और आत्मनिर्भर बनाने के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने पूरे देश में डेयरी फार्मिंग ट्रेनिंग का आगाज़ किया है. इसके लिए आयोग पूरे देश के एग्रीकल्चर संस्थानों के सहयोग से महिलाओं को ढूंढेगा और उन्हें डेयरी फार्मिंग से संबंधित बारीकियों का प्रशिक्षण देगा.

इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत ''वैल्यू एडेड डेयरी फार्मिंग'' नामक कार्यक्रम एक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया, जो कि स्वंय सहायता समूह की महिलाओं के लिए लाला लाजपत राय यूनिवर्सिटी ऑफ वेटनरी एंड एनीमल साइंस, हिसार, हरियाणा में हुआ. आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि ग्रामीण इलाकों के हर डेयरी फार्मिंग में महिलाओं की भागीदारी है. इन सब के बाद भी अभी तक उन्हें आर्थिक स्वतंत्रता मिल नहीं सकी है. राष्ट्रीय महिला आयोग इन जैसी महिलाओं को ही डेयरी फार्मिंग की हर बारीकियों का प्रशिक्षण देने के साथ साथ उन्हें आर्थिक स्वतंत्र और समाज में पहचान बनाने में सहायता करेगा. 

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महिला आयोग केवल फार्मिंग ट्रेनिंग ही नहीं, बल्कि तकनीकी, व्यवसाय और उद्यमिता को बढ़ावा देने में भी सफल साबित होगा. इस ट्रेनिंग से महिलाओं में आत्मविश्वास आएगा और साथ ही साथ ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं द्वारा डेयरी फार्मिंग को भी बढ़ावा मिलेगा.

गिरावट के साथ बंद हुआ बाजार, जानिए क्या है सेंसेक्स और निफ़्टी का हाल

वित्त सचिव ने किया खुलासा- कब होगी LIC के IPO की लिस्टिंग

डीजल की कीमतों में फिर आया उछाल, जानिए क्या है भाव?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -