नासा चाँद से वापस लाना चाहता है मल-मूत्र से भरे 96 बैग, ये रही वजह

Apr 09 2019 07:01 PM
नासा चाँद से वापस लाना चाहता है मल-मूत्र से भरे 96 बैग, ये रही वजह

नई दिल्ली: करीब 50 साल पहले, जब मानव ने चांद पर पहला कदम रखा था, वे वहां से काफी महत्वपूर्ण वैज्ञानिक जानकारी, वहां के पत्थर और मिट्टी लेकर आए थे। किन्तु वे काफी चीजें वहां छोड़कर भी आए थे, इसमें नील आर्म्सट्रॉन्ग के फुट प्रिंट, एक अमेरिकन ध्वज और मानव अपशिष्ट के लगभग 96 बैग। अब वैज्ञानिक चांद पर वापस जाकर दशकों पुराने मानव अपशिष्ट को वापस लेकर आना चाहते हैं, ताकि वहां जीवन एक अध्ययन को और आगे बढ़ाया जा सके। 

अंतरराष्ट्रीय बाजार में जारी है कच्चे तेल के दामों में तेजी का सिलसिला

उल्लेखनीय है कि कुल 12 अंतरिक्ष यात्री चांद की सतह पर पहुंचे थे और 96 बैग वहां छोड़कर वापस लौट आए थे, जिसमें उनका मल-मूत्र और अन्य कचरा भरा हुआ था। हालांकि अंतरिक्ष यात्रियों ने स्पेस में कुछ दिन से अधिक नहीं गुजारे हैं। नासा ने उन्हें इस तौर पर भेजा था कि वे अपने अपशिष्ट को स्पेस में छोड़ने की आवश्यकता न पड़े। इसके लिए नासा ने अपने अंतरिक्ष यात्रियों के लिए विशेष तरह के कपड़े बनवाए थे, जिसमें एक डायपर भी था। 

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डॉलर की कमजोरी के कारण सोने और चांदी में आई तेजी

किन्तु अंतरिक्ष यात्रियों को मजबूरन अपना अपशिष्ट चांद की सतह पर छोड़कर वापस लौटना पड़ा। दरअसल इस मिशन को इस तरह डिजाइन किया गया था कि स्पेसक्राफ्ट पर निश्चित भार ही जा सकता था। थोड़ा भी अधिक वजन होने से स्पेस क्राफ्ट और अंतरिक्ष यात्रियों की जिंदगी को खतरा पैदा हो सकता था। ऐसे में वे अपने पीछे काफी गंदगी और दूसरी चीज वहीं छोड़ आए और चांद की मिट्टी और पत्थरों को अपने साथ ले आए। 

खबरें और भी:-

आज भी मजबूती के साथ हुई रूपये की शुरुआत

पेट्रोल के दामों में आज भी नजर आई गिरावट, डीजल में स्थिरता कायम

सप्ताह के दूसरे दिन सेंसेक्स में नजर आई 19 अंकों की गिरावट