नीमच मॉब लिंचिंग पर सियासत गर्म, नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ-दिग्विजय पर किया पलटवार

इंदौर: मध्य प्रदेश के नीमच जिले में बुजुर्ग की हत्या को लेकर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस ने सीधे तौर पर भाजपा सरकार पर निशाना साधा और घटना को लेकर सवाल दागे हैं। कांग्रेस प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्य में सिलसिलेवार हुई घटनाएं गिनाईं तो दिग्विजय सिंह ने आरोपी के भाजपा नेता होने का आरोप लगाकर गिरफ्तारी को लेकर सरकार से सवाल किए है। आरोप है कि बुजुर्ग को मुसलमान समझकर उनपर हमला किया गया, जबकि वो जैन समुदाय से संबंध रखते थे।

कांग्रेस नेता दिग्विजय ने इस घटना को लेकर एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा है कि 'मुझे जानकारी मिली है कि भाजपा के दिनेश कुशवाह के विरुद्ध धारा 302 के तहत केस दर्ज किया गया है। देखते हैं गिरफ्तारी होती है या नहीं।'  वहीं कमलनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, 'ये मध्य प्रदेश में आखिर हो क्या रहा है ? सिवनी में आदिवासियों की पीट-पीटकर हत्या, गुना, महू, मंडला की घटनाएं और अब प्रदेश के नीमच जिले के मनासा में एक बुजुर्ग व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या, जिनका नाम भंवरलाल जैन बताया जा रहा है। सिवनी की तरह यहां भी आरोपी का जुड़ाव भाजपा से होना सामने आ रहा है। प्रदेश की कानून व्यवस्था आखिर कहां है, कब तक लोगों को यूं ही मारा जाता रहेगा ? अपराधियों के हौसले इतने बुलंद क्यों हैं ? सरकार का ध्यान तो सिर्फ इवेंट में है।'

इस पूरे घटनाक्रम के बीच अब राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की प्रतिक्रिया सामने आई है। मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह का साथ उसी को मिलेगा, जो हिंदू धर्म या हिंदू देवी-देवताओं के विरुद्ध बोलेगा। क्या आपने कभी देखा कि इन्होंने किसी दूसरे धर्म के विरुद्ध बोलने वाले का समर्थन किया हो या खुद कभी किसी और धर्म के खिलाफ कहा हो। यह बोल ही नहीं सकते किसी और धर्म के संबंध में।' उन्होंने कहा कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल का समर्थन करना भी इसी की एक मिसाल है। मिश्रा ने ये भी बताया कि नीमच की घटना के आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 302 और 304 के तहत मामला दर्ज कर अरेस्ट कर लिया गया है।

'कांग्रेस किसी भी दूसरे विपक्षी दल से बेहतर नहीं..', कैंब्रिज में ये क्या बोल गए राहुल गांधी ?

देश में कौन छिड़क रहा मिटटी का तेल ? राहुल के आरोपों पर भाजपा ने चुन-चुनकर किया पलटवार

विधायकों के ट्रेनिंग प्रोग्राम में नहीं जाएंगे आज़म खान और अब्दुल्ला आज़म

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -