संजय राउत ने की देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात, साथ ही कही ये बात

संजय राउत ने की देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात, साथ ही कही ये बात

देश के राज्य महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस तथा शिवसेना सांसद संजय राउत के मध्य शनिवार को भेंट हुई। दोनों की इस भेंट के पश्चात् महाराष्‍ट्र के सियासी गलियारों में चर्चा छिड़ गई। वहीं अब संजय राउत ने फडण्‍वीस के साथ हुई उनकी भेंट को लेकर प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि यह पहले से निर्धारित भेंट थी। शिवसेना के मुखपत्र सामना को लेकर उन्‍होंने फडणवीस से भेंट की। तत्पश्चात उन्‍होंने कहा, 'नरेंद्र मोदी पीएम हैं, ऐसे में वह उद्धव ठाकरे के नेता हैं। वह हमारे नेता भी हैं।'

वही देवेंद्र फडणवीस से भेंट को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए संजय राउत ने कहा, 'फडणवीस हमारे शत्रु नहीं हैं, हमने उनके साथ काम किया है। उनसे मेरी भेंट सामना को लेकर हुई। इस भेंट के बारे में उद्धव ठाकरे को सूचना है। हमारी विचारधारा में भिन्नता है, परन्तु हम एक-दूसरे के शत्रु नहीं हैं।' एनडीए से अकाली दल के अलग होने पर संजय राउत ने कहा कि यह भाजपा के लिए बड़ा झटका है। उन्‍होंने कहा कि शिवसेना तथा अकाली दल के बगैर एनडीए अपूर्ण है। ये दोनों उसके मजबूत स्‍तंभ थे।

साथ ही संजय राउत ने कहा, 'शिवसेना को जबरन एनडीए से बाहर निकलना पड़ा था। अब अकाली दल ने भी ऐसा ही किया। एनडीए को अब नए मित्र मिल गए हैं। मैं उन्‍हें बधाई देता हूं। जिस गठबंधन में शिवसेना तथा अकाली दल नहीं हैं, मैं उसे एनडीए नहीं मानता।' संजय राउत ने एक होटल में फडणवीस से भेंट की थी। राउत बीते वर्ष विधानसभा इलेक्शन के पश्चात् सत्ता बंटवारे के फार्मूले को लेकर बीजेपी विरोधी रुख के लिए चर्चाओं में थे। और इसी के साथ संजय राउत ने अपनी बात कही है।

बिहार चुनाव: मांझी को मिला 'महागठबंधन' छोड़ने का इनाम, नितीश सरकार ने दी जेड प्लस सुरक्षा

संजय राउत बोले - जिसमे शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसे NDA नहीं मानता

पीएम मोदी पर राहुल गांधी का तंज- 'काश, कोविड एक्सेस स्ट्रैटेजी ही मन की बात होती'