PM मोदी, सोनिया समेत कई नेताओं ने नवाया महात्मा गांधी के चरणों में शीश

Oct 02 2015 09:58 AM
PM मोदी, सोनिया समेत कई नेताओं ने नवाया महात्मा गांधी के चरणों में शीश

नई दिल्ली : देश आज अपने दो महान नेताओं का जन्मोत्सव मना रहा है। एक ओर जहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती मनाई जा रही है तो दूसरी ओर भारत को वर्ष 1965 की जंग में विजय दिलवाने वाले प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री का जन्मोत्सव भी मनाया जा रहा है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मोत्सव पर उनकी समाधि राजघाट पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। महात्मा गांधी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री का भी जन्मोत्सव मनाया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा शास्त्री की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। महात्मा गांधी ने कहा कि गुजरात के पोरबंदर में उनके पिता का नाम करमचंद और माता का नाम पुतलीबाई रखा गया। उनकी मां धार्मिक विचारों की महिला थी। इस दौरान उन्होंने अहिंसा के मार्ग पर चलकर देश को स्वाधीनता दिलवाई। मामले में संदेश दिया गया कि अहिंसा ही महत्वपूर्ण है। 

महात्मा गांधी को सुभाषचंद्र बोस द्वारा 6 जुलाई 1944 को रेडियो-रंगून से राष्ट्रपिता के नाम से बुलाया गया। यही नहीं इस दिन को सारे विश्व में ही अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस के तौर पर मनाया जाता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर शीश नवाया गया।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी महात्मा गांधी की समाधि पर पहुंचे और पुष्पांजलि अर्पित की। वहां उन्होंने जाकर अपना शीश नवाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री शास्त्री जी की समाधि विजय घाट नहीं गए, इसको लेकर अब विवाद उठ रहा है।