राजीव गांधी की हत्या में शामिल नलिनी ने की रिहाई की अपील

नई दिल्ली : भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के मामले में दोषी नलिनी श्रीहरन ने राष्ट्रीय महिला आयोग में दस्तक दी है। दरअसल नलिनी ने अपनी रिहाई की मांग की और महिला आयोग को पत्र लिखा। उन्होंने मांग करते हुए लिखा कि उनकी सजा 25 वर्ष की हो चुकी है और ऐसे में वे रिहाई चाहती हैं। नलिनी ने पत्र लिखकर विदेश में रहने वाली बेटी से मिलने की उम्मीद जताई। नलिनी द्वारा पत्र में महिलाओं के छूटने का उल्लेख भी किया। उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि वे वे दूसरी महिलाओं को विशेष अवसर पर रिहा होते हुए देखती हैं तो उसे भी लगता है कि वह भी आजाद जीवन जी पाए।

गौरतलब है कि इस मामले में पहले ही तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा करने के मामले में केंद्र सरकार को पत्र लिख चुकी हैं। उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री से अपील की थी कि दोषियों ने 24 वर्ष से अधिक समय तक जेल में सजा काट ली है। ऐसे में मानवीय आधार पर विभिन्न तथ्यों को ध्यान में रखना चाहिए और सभी दोषियों को रिहा कर देना चाहिए।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय का आदेश मुख्य है मगर सरकार फिर भी पत्र पर ध्यान दे रही है। दूसरी ओर तमिलनाडुू सरकार पहले ही दोषियों को रिहा करने का आदेश दे चुकी है। सर्वोच्च न्यायालय ने तमिलनाडु सरकार के निर्णय पर रोक भी लगा दी थी। न्यायालय का कहना था कि अंतिम निर्णय केंद्र सरकार द्वारा लिया जाएगा। न्यायालय का मानना है कि राज्य को किसी तरह का निर्णय लेने का अधिकार नहीं है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -