दिल्ली के उपराज्यपाल के कुक के नवजात की मौत, अस्पताल पर लापरवाही का आरोप

नई दिल्ली : दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग के कुक मोहम्मद नदीम के नवजात बच्चे की मौत का मामला सामने आया है। नदीम का आरोप है कि दिल्ली सरकार के अस्पताल द्वारा लापरवाही किए जाने के कारण ऐसा हुआ। जंग और दिल्ली विधानसभा के बीच स्थित अरुणा आसफ अली अस्पताल प्रशासन पर बच्चे की डिलीवरी में लापरवाही बरतने का आरोप है।

गुरुवार की रात को 24 वर्षीय सबा बानो का डिलिवरी के लिए असपताल लाया गया था। डिलीवरी के दौरान ही बच्चे की मौत हो गई। उतरी दिल्ली के पुलिस कमिश्नर ने बताया कि हमें इस मामले में व्यक्तिगत शिकायत मिली है। इसके उपराज्यपाल या उनके निवास से कोई लेना-देना नहीं है।

इस मामले में अस्पताल प्रशासन का कहना है कि डिलिवरी के दौरान बच्चे का वजन 4.5 किलो था। जच्चा-बच्चा दोनों की हालत गंभीर थी। हमने मां को बचा लिया, लेकिन बच्चे को नहीं बचा पाए। उधर बानो के परिजनों का कहना है कि जानबूझकर मामले की अनदेखी की गई।

सारी सुविधाएं होने के बावजूद नॉर्मल डिलिवरी के लिए दबाव बनाया गया। इससे मरीज की हालत बिगड़ गई। एक डॉक्टर के अनुसार, नदीम अपनी पत्नी को डिलिवरी से पहले भी जांच के लिए लेकर आता था। कहा जा रहा है कि जंग के परिजनों ने भी गुरुवार को अस्पताल पहुंचकर डॉक्टरों पर दबाव बनाया था। अस्पताल के डिप्टी मेडिकल सुपरिडेंट डॉ. कुलभूषण गोयल ने कहा कि हम मामले की निगरानी कर रहे हैं।

जानकारों के मुताबिक बच्चे का वजन 3.5 किलोग्राम से अधिक रहने पर सीजेरियन डिलिवरी की जाती है। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हम और कुछ बता सकेंगे। बच्चे के शव को मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -