अगर होना चाहते हैं मालामाल तो नागपंचमी पर दूध से करें यह उपाय

Aug 05 2019 04:40 PM
अगर होना चाहते हैं मालामाल तो नागपंचमी पर दूध से करें यह उपाय

आप सभी को बता दें कि आज नागपंचमी है. ऐसे में सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का पर्व मनाया जाता हैं और इस दिन लोग नाग देवता की पूजा करते हैं. ऐसे में इस दिन शुभ मुहूर्त 4 अगस्त को रात 11 बजकर 2 मिनट से शुरू हो रहा हैं और या 5 अगस्त को रात 8 बजकर 40 मिनट तक रहेगा. ऐसे में इस दिन आप कुछ उपाय कर सकते हैं जिसको करने से आपके घर में धन की कभी कमी नहीं होगी. आइए जानते हैं उन उपायों को.

दूध से करे यह उपाय - नाग पंचमी के दिन सबसे पहले नाग देवता की पूजा कर ले और पूजा करने के लिए हल्दी, रोली, चावल, फूल आदि का इस्तेमाल करे. वहीं अगर आपने रात में चने भिगो के रखे हैं या फिर ऐसे ही चने, बताशे और कच्चा दूध प्रतिकात्मक रूप से अर्पित करे. इसी के साथ अगर आपके यहाँ साँप नहीं हैं या फिर नाग देवता की कोई मंदिर नहीं हैं तो आप गाय के गोबर से नाग देवता की तस्वीर बना ले और इसकी पूजा करे. कहते हैं ऐसा करने से आर्थिक लाभ होता हैं, धन आने के नए-नए रास्ते बनते हैं. इसी के साथ आप एक तांबे का लोटा ले, लोटे में थोड़ा सा गंगा जल ले तथा एक कटोरी में दूध ले. उसके बाद 'ॐ कुरु कुल्ले फट स्वाहा' मंत्र का जाप करते हुये पूरे घर में दूध और गंगा जल का छिड़काव करे, ऐसा करने से आपके परिवार वालों को नाग देवता का आशीर्वाद मिलता हैं. इसी के साथ भगवान शिव की कृपा भी प्राप्त होती हैं.

वहीं अगर आप राहू, केतू या फिर किसी दोषों से ग्रसित हैं तो आप एक रस्सी ले और इसमें सात गाँठी लगा ले, अर्थात यह एक साँप का प्रतिकात्मक रूप हैं, यदि रस्सी गांठ लगाने लायक नहीं हैं तो आप ऐसे ही ले, अब इसके मुख को काजल या कोयले से काला कर ले. अब उसके बाद इसे किसी पटिए पर विराजमान कर ले और अब इस पर थोड़ा सा कच्चा दूध, बताशा, शक्कर, फूल और तिलक करे. अब उसके बाद राहू और केतू के मंत्र का जाप करे, अब भगवान शिव को स्मरण करते हुये गांठों को खोल दे. इसके बाद दूध जो आने पूजा में चढ़ाया था, उसे लेकर, गंगा जल मिलाकर पूरे घर में छिड़काव कर दे. इसके बाद उस रस्सी को किसी गंगा जल में प्रवाहित कर दे, या फिर इसे मिट्टी खोदकर दबा दें. कहते हैं इससे कालसर्प दोष नष्ट हो जाता है.

नागपंचमी के दिन भूलकर भी ना करें यह काम वरना...

पंचांग पढ़कर जानिए आज का शुभ मुहूर्त और राहुकाल