रमज़ान : कुछ ऐसे झूठ जो लोग सच मानते हैं

रमज़ान का पाक महीना जल्द ही खत्म होने को है इस महीने का एक अलग ही महत्व होता है और यह महीना हर मुसलमान के लिए ख़ास होता है. रमज़ान से जुड़े कई ऐसे झूठ हैं जो लोगों से कहे जाते हैं और लोग उन्हें सच मान बैठते हैं. जी हाँ, रमज़ान के महीने को लेकर कई तरह के झूठ कहें जाते हैं जो लोग सच मानते हैं तो आइए बताते हैं कि क्या क्या झूठ कहे जाते है रमज़ान में.

कहते हैं कि रमज़ान के महीने में आप ब्रश नहीं कर सकते हैं क्योंकि इससे रोज़ा टूट जाता है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है बल्कि रमज़ान में दांतों को साफ करना सबसे ज्यादा जरुरी माना जाता है अगर ऐसा नहीं किया जाए तो नमाज पूरी नहीं होती.

यह भी कहा जाता है कि रमज़ान के महीने में रोज़ा रखना सभी के लिए जरुरी होता है लेकिन यह जरुरी नहीं है. जी हाँ, रमज़ान में बीमार लोग, प्रेग्नेंट महिलाएं, बुजुर्ग और लंबा सफर कर रहे लोग चाहे तो रोजा नहीं रख सकते.

रमज़ान में लोग अपनी थूक को अंदर नहीं ले सकते यह कई बार कहा गया है लेकिन ऐसा नहीं है रमज़ान में पानी नहीं पीया जाता है लेकिन थूक अंदर ली जा सकती हैं.

रमज़ान के समय में गलती से कुछ खा लेने से रोज़ा टूट जाता है लेकिन ऐसा नहीं है अगर आप गलती से कुछ खा लेकिन तो रोज़ा नहीं टूटता.

इस टीवी एक्ट्रेस के पीछे हाथ धोकर पड़े हुए है यूजर्स, लगातार कर रहे है भद्दे कमेंट्स

रमज़ान : दिनभर व्यस्त रहने वाले मुसलमान रात में पढ़ते है तरावीह

रमज़ान मुबारक की शायरियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -