हमारे पास भी होते 2 ताजमहल अगर ना हुआ होता कुछ ऐसा

हमारे पास भी होते 2 ताजमहल अगर ना हुआ होता कुछ ऐसा

ताजमहल के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे। कई लोग ऐसे है दुनिया में, जो ताजमहल को मोहब्बत की निशानी मानते है, लेकिन कई लोग इनसे भी है जिनका मानना यह नहीं है। ऐसे में अगर ताज महल की बात की जाए तो वो बयान करती है शाहजहाँ और मुमताज के प्यार को। ताजमहल जैसी सिर्फ एक ही इमारत है क्योंकि दूसरी कभी बन ही नहीं पाई। सुना है की जिन कारीगरो ने ताजमहल बनाया था उनके हाथ काट दिए गए थे। तो आपको क्या लगता है की बस एक ही ताजमहल है, दूसरा बनाने की कोशिश नहीं की गई होगी ?

वैसे अगर इस बारे में हम बात करे तो हाँ एक और ताजमहल हो सकता था और वो था ब्लैक ताजमहल। अरे सच कह रहे है हम आप मजाक में ना लीजिए। बात सिर्फ इतनी सी है की हो सकता था हुआ नहीं। ब्लैक ताजमहल बन तो रहा था पर बना नहीं। लेकिन क्यों नहीं बना ये आज हम आपको बताते है।

कई विद्वानों का कहना है कि शाहजहाँ ने कुछ ऐसा सोचा था जिसके सामने पूरी दुनिया की खूबसूरत से भी खूबसूरत इमारत फीकी पड़ जाती, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। विद्वानों का कहना यह भी है की शाहजहाँ यह चाहते थे की ताजमहल की एक छाया बने जोकि ताजमहल के बिल्कुल विपरीत हो जहाँ पर उन्हें दफनाया जाए। लेकिन उनका यह काम उनके बेटे ओरंगजेब की वजह से अधूरा रह गया क्योंकि उसने राज्य के लालच में अपने पिता को ही कालकोठरी में डाल दिया था। जिसकी वजह से शाहजहाँ के सारे काम अधूरे रह गए थे।

आपने देखा होगा की जमुना नदी के किनारे कुछ ब्लैक मार्बल्स पड़े है वो उसी काम के लिए थे जोकि अधूरा रह गया। खैर छोड़िए ब्लैक ताजमहल तो नहीं बन पाया, लेकिन हाँ दुनिया में लगभग 7 ऐसी इमारतें हैं जो हूबहू ताजमहल जैसी है। ये उत्तरप्रदश, दुबई, चीन, महाराष्ट्र और कैलिफ़ोर्निया में स्थित हैं।

स्वर्ग तक ले जाएंगी आपको Hawaii द्वीप की ये 3922 सीढ़ियां

ये कोई जंगल नहीं है बल्कि बस एक ही पेड़ है

दुनिया का सबसे खूबसूरत गार्डन, जहाँ की गयी थी 'हमारी अधूरी कहानी की' शूटिंग