नेपाल से लौटे पीएम ने यात्रा को बताया ऐतिहासिक

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय नेपाल दौरे को पूर्ण करके शनिवार रात को भारत वापिस लौट आए. उन्होंने कहा कि नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के साथ उनकी बातचीत ‘उपयोगी’ रही और उनकी यात्रा से भारत-नेपाल संबंधों को नया बल मिलेगा. वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद पीएम मोदी की यह तीसरी नेपाल यात्रा थी. पीएम मोदी ने खुद अपने ट्वीट में इस यात्रा को ऐतिहासिक बताया है. 

शनिवार को जारी संयुक्त बयान में दोनों प्रधानमंत्रियों ने इस यात्रा से आई तेजी को आगे भी बनाए रखने पर सहमति जताई और अब तक हुए समझौतों व सहमतियों के कार्यान्वयन के लिए प्रभावी कदम उठाने की बात की. प्रधानमंत्री ने कहा कि जब भारतीय नेपाल की ओर देखते हैं तो हमें नेपाल को देखकर, यहां के माहौल को देखकर खुशी होती है, नेपाल में माहौल है आशा का, उज्जवल भविष्य की कामना का, लोकतंत्र की मजबूती का और समृद्ध नेपाल, सुखी नेपाली के विजन का.

इससे पहले पीएम मोदी ने  नेपाल यात्रा के पहले दिन पीएम मोदी ने दोनों देशों के विकास के लिए पांच ‘टी’ ट्रेडिशन, ट्रेड, टूरिज्म, टेक्नोलॉजी और ट्रांसपोर्ट को सबसे जरूरी बताया था, भारत के शहर जयनगर और नेपाल के जनकपुर के बीच रेल निर्माण का काम इस साल पूरा होने की बात कहते हुए मोदी ने कहा था कि बिहार के रक्सौल होते हुए काठमांडू को रेल मार्ग से जोडऩे का काम भी तेजी से चल रहा है. 

राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष का मामला गंभीर हुआ

राज्य के पिछड़े जिलों पर रहेगी प्रधानमंत्री की नजर

कर्नाटक चुनाव या युद्ध...

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -