पति को खोने वाली अर्चना ने मांगा इंसाफ

Sep 01 2015 02:16 PM
पति को खोने वाली अर्चना ने मांगा इंसाफ

इंदौर: मध्यप्रदेश इंदौर के विजय नगर थाना क्षेत्र के गंगादेवी नगर में रक्षाबंधन के दिन हुई एक दर्दनाक वारदात में अपने मायके वालो के द्वारा पति की दर्दनाक तरीके से की गई हत्या के मामले में आज अपने ही मायके के लोगो के हमलो से बुरी तरह से जख्मी हुई अर्चना डोंगरे जिसकी उम्र 28 वर्ष है. अस्पताल में उसने पुलिस को दिए अपने बयान में किस तरह से इस घटना को अंजाम दिया गया उसका विस्तृत ब्यौरा दिया व इसका एक वीडियो भी सामने आया है. अर्चना ने अपने बयान में कहा की मेरे पिता परसराम आरोलिया उर्फ पारस, चाचा गरसिंह और भाई शैलेंद्र ने मुझे व मेरे पति को 29 अगस्त रक्षाबंधन के मौके पर बुलाया था व जब हम वहां पहुंचे तो उन्होंने मेरे पति की मेरी ही चुन्नी से गला घोंटकर बेरहमी से हत्या कर दी. मेरे मायके वालो ने मेरा भी गला घोंटा जिससे में बेहोश हो गई.

अर्चना ने कहा की मेरे मायके वालो ने मेरी आँखों के सामने ही मेरे पति को दर्दनाक तरीके से तड़पा तड़पाकर मौत के घाट उतार दिया. अर्चना ने पुलिस से कहा की मुझे न्याय चाहिए. विजय नगर पुलिस के थाना प्रभारी छत्रपाल सिंह सोलंकी ने कहा की इस मामले में अर्चना की मां विमला, चाचा गरसिंह और दो चचेरे भाइयों, शैलेंद्र और हरिसिंह को गिरफ्तार कर एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया है व इस वारदात में अर्चना के पिता अभी भी फरार है. जिनकी खोजबीन पुलिस कर रही है. व इस दौरान कोर्ट ने इन चारो आरोपियों को 15 दिन की न्यायिक हिरासत के तहत जेल भेज दिया है. आपको बता दे की थाना प्रभारी ने कहा की अर्चना के मायके वाले हेमेन्द्र (30) के साथ उसके प्रेम विवाह के सख्त खिलाफ थे. व नाराज थे, अर्चना व हेमेन्द्र स्कुल से लेकर कॉलेज तक साथ-साथ सहपाठी रहे व इन युगल जोड़ो ने अर्चना के परिवार की मर्जी के विरुद्ध प्रेम विवाह कर लिया.