मुस्लिम खुद सफेद भवन (मस्जिद) को हिंदुओं के हवाले कर दें: उत्तर प्रदेश मंत्री

बलिया: उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य राज्य मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल ने हाल ही में मुस्लिम समाज से आह्वान किया है कि वे खुद आगे आकर मथुरा में 'श्री कृष्ण जन्मभूमि परिसर' में स्थित सफेद भवन (मस्जिद) को हिंदुओं के हवाले कर दें। जी हाँ, आज यानी मंगलवार को उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'अदालत ने अयोध्या मुद्दे का समाधान कर दिया लेकिन काशी (वाराणसी) और मथुरा में सफेद ढांचे हिंदुओं को आहत करते हैं। इस दौरान उनका इशारा काशी और मथुरा में बने दो मुस्लिम मजहबी ढांचों की तरफ था।'

आगे उन्होंने बयान में कहा, ''वह समय भी आएगा जब मथुरा में हर हिंदु को चुभने वाला सफेद ढांचा अदालत की मदद से हटा दिया जाएगा। डॉ राम मनोहर लोहिया ने कहा था कि भारत के मुसलमानों को यह मानना होगा कि राम और कृष्ण उनके पूर्वज थे और बाबर, अकबर तथा औरंगजेब हमलावर थे। उनके द्वारा बनाई गई किसी इमारत से स्वयं को संबद्ध न करें।'' इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा ''मुस्लिम समुदाय को आगे आना चाहिए और मथुरा के श्री कृष्ण जन्मभूमि परिसर में स्थित सफेद भवन को हिंदुओं को सौंप देना चाहिए। एक समय आयेगा, जब यह काम पूरा होगा।''

इस दौरान उन्होंने शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी के सनातन धर्म अपनाने के बारे में कहा, 'मुसलमानों को वसीम रिजवी का अनुकरण करना चाहिए। देश में सभी मुसलमान धर्मांतरित हैं। अगर वे अपना इतिहास देखेंगे तो पाएंगे कि 200 से 250 साल पहले वे हिंदू धर्म से इस्लाम में धर्मांतरित हुए थे। हम चाहेंगे कि उन सभी की 'घर वापसी' हो। भारत की मूल संस्कृति 'हिंदुत्व' और 'भारतीयता' की है जो एक दूसरे के पूरक हैं।''

तो इस वजह से हटाया गया ग्रेमी अवार्ड के नॉमिनेशन से टेलर स्विफ्ट का नाम

आखिर क्यों रैपर ड्रेक ने ग्रेमी अवार्ड से नाम लिया वापस

देखते ही देखते एयरपोर्ट पर कपड़े उतारने लगी मॉडल और फिर...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -